Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

खुल जाये यदि भेद तो,

खुल जाये यदि भेद तो,
व्यर्थ बढ़े तकरार
कर डालो चुपचाप वह,
जी में जो है यार
– महावीर उत्तरांचली

1 Like · 310 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
हलमुखी छंद
हलमुखी छंद
Neelam Sharma
बादल को रास्ता भी दिखाती हैं हवाएँ
बादल को रास्ता भी दिखाती हैं हवाएँ
Mahendra Narayan
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Mamta Rani
अगर आपको अपने कार्यों में विरोध मिल रहा
अगर आपको अपने कार्यों में विरोध मिल रहा
Prof Neelam Sangwan
नए साल के ज़श्न को हुए सभी तैयार
नए साल के ज़श्न को हुए सभी तैयार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रभु श्रीराम पधारेंगे
प्रभु श्रीराम पधारेंगे
Dr. Upasana Pandey
जब तक जरूरत अधूरी रहती है....,
जब तक जरूरत अधूरी रहती है....,
कवि दीपक बवेजा
.......... मैं चुप हूं......
.......... मैं चुप हूं......
Naushaba Suriya
🙏 * गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 * गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
#कहमुकरी
#कहमुकरी
Suryakant Dwivedi
खुशनसीब
खुशनसीब
Bodhisatva kastooriya
"पंखों वाला घोड़ा"
Dr. Kishan tandon kranti
2598.पूर्णिका
2598.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
शेखर सिंह
गांव के छोरे
गांव के छोरे
जय लगन कुमार हैप्पी
तुम मेरी जिन्दगी बन गए हो।
तुम मेरी जिन्दगी बन गए हो।
Taj Mohammad
कब होगी हल ऐसी समस्या
कब होगी हल ऐसी समस्या
gurudeenverma198
*जमीं भी झूमने लगीं है*
*जमीं भी झूमने लगीं है*
Krishna Manshi
😢साहित्यपीडिया😢
😢साहित्यपीडिया😢
*Author प्रणय प्रभात*
*बड़े प्रश्न लें हाथ, सोच मत रखिए छोटी (कुंडलिया)*
*बड़े प्रश्न लें हाथ, सोच मत रखिए छोटी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
यह नफरत बुरी है ना पालो इसे
यह नफरत बुरी है ना पालो इसे
VINOD CHAUHAN
मैं भी डरती हूॅं
मैं भी डरती हूॅं
Mamta Singh Devaa
महाशक्तियों के संघर्ष से उत्पन्न संभावित परिस्थियों के पक्ष एवं विपक्ष में तर्कों का विश्लेषण
महाशक्तियों के संघर्ष से उत्पन्न संभावित परिस्थियों के पक्ष एवं विपक्ष में तर्कों का विश्लेषण
Shyam Sundar Subramanian
"तुम नूतन इतिहास लिखो "
DrLakshman Jha Parimal
कभी उन बहनों को ना सताना जिनके माँ पिता साथ छोड़ गये हो।
कभी उन बहनों को ना सताना जिनके माँ पिता साथ छोड़ गये हो।
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
प्यारी-प्यारी सी पुस्तक
प्यारी-प्यारी सी पुस्तक
SHAMA PARVEEN
गुरुकुल भारत
गुरुकुल भारत
Sanjay ' शून्य'
मुश्किलों से क्या
मुश्किलों से क्या
Dr fauzia Naseem shad
बुंदेली दोहा- चंपिया
बुंदेली दोहा- चंपिया
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...