Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2023 · 1 min read

खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया

खुद को परोस कर..मैं खुद को खा गया
हुआ है वाकया ये मुसलसल कभी -कभी
-सिद्धार्थ गोरखपुरी

175 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हम अपनी ज़ात में
हम अपनी ज़ात में
Dr fauzia Naseem shad
नेता
नेता
Punam Pande
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
*रिश्ते भैया दूज के, सबसे अधिक पवित्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मेरी चाहत
मेरी चाहत
umesh mehra
पितृ दिवस134
पितृ दिवस134
Dr Archana Gupta
हमारे तो पूजनीय भीमराव है
हमारे तो पूजनीय भीमराव है
gurudeenverma198
किसान मजदूर होते जा रहे हैं।
किसान मजदूर होते जा रहे हैं।
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
परीक्षा
परीक्षा
Er. Sanjay Shrivastava
💐प्रेम कौतुक-263💐
💐प्रेम कौतुक-263💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
लाल और उतरा हुआ आधा मुंह लेकर आए है ,( करवा चौथ विशेष )
लाल और उतरा हुआ आधा मुंह लेकर आए है ,( करवा चौथ विशेष )
ओनिका सेतिया 'अनु '
हर मुश्किल फिर आसां होगी।
हर मुश्किल फिर आसां होगी।
Taj Mohammad
*** मन बावरा है....! ***
*** मन बावरा है....! ***
VEDANTA PATEL
Three handfuls of rice
Three handfuls of rice
कार्तिक नितिन शर्मा
दोहा पंचक. . . नैन
दोहा पंचक. . . नैन
sushil sarna
2- साँप जो आस्तीं में पलते हैं
2- साँप जो आस्तीं में पलते हैं
Ajay Kumar Vimal
माँ
माँ
नन्दलाल सुथार "राही"
अखंड भारतवर्ष
अखंड भारतवर्ष
Bodhisatva kastooriya
जो भूल गये हैं
जो भूल गये हैं
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
अगर तूँ यूँहीं बस डरती रहेगी
अगर तूँ यूँहीं बस डरती रहेगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मदनोत्सव
मदनोत्सव
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
3285.*पूर्णिका*
3285.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"कड़वा सच"
Dr. Kishan tandon kranti
श्री राम मंदिर
श्री राम मंदिर
Mukesh Kumar Sonkar
मेरी जिंदगी सजा दे
मेरी जिंदगी सजा दे
Basant Bhagawan Roy
आएंगे तो मोदी ही
आएंगे तो मोदी ही
Sanjay ' शून्य'
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
"मीरा के प्रेम में विरह वेदना ऐसी थी"
Ekta chitrangini
Bahut fark h,
Bahut fark h,
Sakshi Tripathi
✍️♥️✍️
✍️♥️✍️
Vandna thakur
Loading...