Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Apr 2023 · 1 min read

ख़ुद लड़िए, ख़ुद जीतिए,

ख़ुद लड़िए, ख़ुद जीतिए,
इस में है पुरुषार्थ।
जंग अगर हो स्वयं से,
क्या परहित, क्या स्वार्थ?

★प्रणय प्रभात★

1 Like · 217 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Needs keep people together.
Needs keep people together.
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जमाना खराब हैं....
जमाना खराब हैं....
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
भक्त कवि श्रीजयदेव
भक्त कवि श्रीजयदेव
Pravesh Shinde
"सन्देशा भेजने हैं मुझे"
Dr. Kishan tandon kranti
कर्जा
कर्जा
RAKESH RAKESH
हर कोरे कागज का जीवंत अल्फ़ाज़ बनना है मुझे,
हर कोरे कागज का जीवंत अल्फ़ाज़ बनना है मुझे,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
शंभु जीवन-पुष्प रचें....
शंभु जीवन-पुष्प रचें....
डॉ.सीमा अग्रवाल
बेड़ियाँ
बेड़ियाँ
Shaily
THE MUDGILS.
THE MUDGILS.
Dhriti Mishra
महान कथाकार प्रेमचन्द की प्रगतिशीलता खण्डित थी, ’बड़े घर की
महान कथाकार प्रेमचन्द की प्रगतिशीलता खण्डित थी, ’बड़े घर की
Dr MusafiR BaithA
अखंड भारत
अखंड भारत
कार्तिक नितिन शर्मा
"झूठे लोग "
Yogendra Chaturwedi
खुद से प्यार
खुद से प्यार
लक्ष्मी सिंह
मन का जादू
मन का जादू
Otteri Selvakumar
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
Keshav kishor Kumar
"कितना कठिन प्रश्न है यह,
शेखर सिंह
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
জীবন নামক প্রশ্নের বই পড়ে সকল পাতার উত্তর পেয়েছি, কেবল তোমা
Sakhawat Jisan
सहन करो या दफन करो
सहन करो या दफन करो
goutam shaw
सत्य की खोज, कविता
सत्य की खोज, कविता
Mohan Pandey
■ कामयाबी का नुस्खा...
■ कामयाबी का नुस्खा...
*Author प्रणय प्रभात*
कोई...💔
कोई...💔
Srishty Bansal
जब तक जरूरत अधूरी रहती है....,
जब तक जरूरत अधूरी रहती है....,
कवि दीपक बवेजा
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मुक्तक-विन्यास में रमेशराज की तेवरी
मुक्तक-विन्यास में रमेशराज की तेवरी
कवि रमेशराज
आज का दौर
आज का दौर
Shyam Sundar Subramanian
फ़ितरत
फ़ितरत
Ahtesham Ahmad
*गठरी बाँध मुसाफिर तेरी, मंजिल कब आ जाए  ( गीत )*
*गठरी बाँध मुसाफिर तेरी, मंजिल कब आ जाए ( गीत )*
Ravi Prakash
(6)
(6)
Dr fauzia Naseem shad
वक्त-वक्त की बात है
वक्त-वक्त की बात है
Pratibha Pandey
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
मां ने जब से लिख दिया, जीवन पथ का गीत।
Suryakant Dwivedi
Loading...