Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Oct 2023 · 1 min read

ख़ुद को ख़ोकर

ख़ुद से हमको है बस यही कहना ।
ख़ुद को ख़ोकर किसी के क्या होना ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
7 Likes · 127 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-197💐
💐प्रेम कौतुक-197💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"ऐसा मंजर होगा"
पंकज कुमार कर्ण
!! वीणा के तार !!
!! वीणा के तार !!
Chunnu Lal Gupta
अनजान रिश्ते...
अनजान रिश्ते...
Harminder Kaur
Love life
Love life
Buddha Prakash
अपराह्न का अंशुमान
अपराह्न का अंशुमान
Satish Srijan
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
Dr Tabassum Jahan
विरान तो
विरान तो
rita Singh "Sarjana"
कविता
कविता
Rambali Mishra
बारह ज्योतिर्लिंग
बारह ज्योतिर्लिंग
सत्य कुमार प्रेमी
दो शब्द यदि हम लोगों को लिख नहीं सकते
दो शब्द यदि हम लोगों को लिख नहीं सकते
DrLakshman Jha Parimal
अध्यात्म का अभिसार
अध्यात्म का अभिसार
Dr.Pratibha Prakash
माँ
माँ
Anju
"सियासत"
Dr. Kishan tandon kranti
"एक भगोड़ा"
*Author प्रणय प्रभात*
* बुढ़ापा आ गया वरना, कभी स्वर्णिम जवानी थी【मुक्तक】*
* बुढ़ापा आ गया वरना, कभी स्वर्णिम जवानी थी【मुक्तक】*
Ravi Prakash
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
इश्क पहली दफा
इश्क पहली दफा
साहित्य गौरव
"ढाई अक्षर प्रेम के"
Ekta chitrangini
चाल, चरित्र और चेहरा, सबको अपना अच्छा लगता है…
चाल, चरित्र और चेहरा, सबको अपना अच्छा लगता है…
Anand Kumar
राजनीति
राजनीति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
कमियाॅं अपनों में नहीं
कमियाॅं अपनों में नहीं
Harminder Kaur
2392.पूर्णिका
2392.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
शतरंज की बिसात सी बनी है ज़िन्दगी,
शतरंज की बिसात सी बनी है ज़िन्दगी,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
वर्ण पिरामिड
वर्ण पिरामिड
Neelam Sharma
आप और हम जीवन के सच............. हमारी सोच
आप और हम जीवन के सच............. हमारी सोच
Neeraj Agarwal
* मणिपुर की जो घटना सामने एक विचित्र घटना उसके बारे में किसी
* मणिपुर की जो घटना सामने एक विचित्र घटना उसके बारे में किसी
Vicky Purohit
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मुझे अच्छी नहीं लगती
मुझे अच्छी नहीं लगती
Dr fauzia Naseem shad
पीर
पीर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
Loading...