Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Apr 2023 · 1 min read

ख़ामोश निगाहें

खामोश निगाहों से किया ,तूने क्या इशारा।
जाने कहां गुम हुआ,नादां सा दिल हमारा।

इधर उधर हमने बहुत ढूंढा, मिला न निशां
थोड़ा हमें समझाओ, दिल ढूंढे हम कहां।

परेशां हो रहा होगा , हमें न करीब पाकर
दिल मेरे पे अख्तियार तेरा,देखो तो आकर।

दिल की बातें दिल में ही न रह जाये यार
थोड़ा सा तो कर्म हम पर करो दिलदार।

हया इतनी कि पलकें झुकी जाती है तेरी
गरूर इतना कि बात भी सुनते नहीं मेरी।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
215 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
जरा विचार कीजिए
जरा विचार कीजिए
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
गुरू शिष्य का संबन्ध
गुरू शिष्य का संबन्ध
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Kya kahun ki kahne ko ab kuchh na raha,
Kya kahun ki kahne ko ab kuchh na raha,
Irfan khan
To my dear Window!!
To my dear Window!!
Rachana
कैनवास
कैनवास
Mamta Rani
मूक संवेदना
मूक संवेदना
Buddha Prakash
एक मां ने परिवार बनाया
एक मां ने परिवार बनाया
Harminder Kaur
बिन फले तो
बिन फले तो
surenderpal vaidya
जीवन में शॉर्ट कट 2 मिनट मैगी के जैसे होते हैं जो सिर्फ दो म
जीवन में शॉर्ट कट 2 मिनट मैगी के जैसे होते हैं जो सिर्फ दो म
Neelam Sharma
चन्द्रशेखर आज़ाद...
चन्द्रशेखर आज़ाद...
Kavita Chouhan
स्वीकारा है
स्वीकारा है
Dr. Mulla Adam Ali
वो कहते हैं कहाँ रहोगे
वो कहते हैं कहाँ रहोगे
VINOD CHAUHAN
Tlash
Tlash
Swami Ganganiya
2384.पूर्णिका
2384.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
'क्या कहता है दिल'
'क्या कहता है दिल'
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
यादें
यादें
Johnny Ahmed 'क़ैस'
डॉ निशंक बहुआयामी व्यक्तित्व शोध लेख
डॉ निशंक बहुआयामी व्यक्तित्व शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*जीवन में जो सोचा सब कुछ, कब पूरा होता है (हिंदी गजल)*
*जीवन में जो सोचा सब कुछ, कब पूरा होता है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
स्पर्श करें निजजन्म की मांटी
स्पर्श करें निजजन्म की मांटी
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
सत्य कुमार प्रेमी
किस क़दर
किस क़दर
हिमांशु Kulshrestha
वो जो हूबहू मेरा अक्स है
वो जो हूबहू मेरा अक्स है
Shweta Soni
कैसा फसाना है
कैसा फसाना है
Dinesh Kumar Gangwar
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
ये कमाल हिन्दोस्ताँ का है
अरशद रसूल बदायूंनी
श्री कृष्ण जन्माष्टमी...
श्री कृष्ण जन्माष्टमी...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"लोभ"
Dr. Kishan tandon kranti
जवानी के दिन
जवानी के दिन
Sandeep Pande
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀 *वार्णिक छंद।*
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀 *वार्णिक छंद।*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
हे राम!धरा पर आ जाओ
हे राम!धरा पर आ जाओ
Mukta Rashmi
Loading...