Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Apr 2023 · 1 min read

कौन पंखे से बाँध देता है

कौन पंखे से बाँध देता है
काम कुछ और भी हैं रस्सी के

Koun pankkhe sey bandh deta hei
Kaam kuch aur bhi hein rassi key

Aadarsh Dubey

374 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
#दोहा-
#दोहा-
*Author प्रणय प्रभात*
मैं शब्दों का जुगाड़ हूं
मैं शब्दों का जुगाड़ हूं
भरत कुमार सोलंकी
प्रेम की साधना (एक सच्ची प्रेमकथा पर आधारित)
प्रेम की साधना (एक सच्ची प्रेमकथा पर आधारित)
गुमनाम 'बाबा'
Nothing grand to wish for, but I pray that I am not yet pass
Nothing grand to wish for, but I pray that I am not yet pass
पूर्वार्थ
’बज्जिका’ लोकभाषा पर एक परिचयात्मक आलेख / DR. MUSAFIR BAITHA
’बज्जिका’ लोकभाषा पर एक परिचयात्मक आलेख / DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
बेटियां
बेटियां
Neeraj Agarwal
स्वयं ही स्वयं का अगर सम्मान करे नारी
स्वयं ही स्वयं का अगर सम्मान करे नारी
Dr fauzia Naseem shad
मूल्य मंत्र
मूल्य मंत्र
ओंकार मिश्र
भारत बनाम इंडिया
भारत बनाम इंडिया
Harminder Kaur
గురు శిష్యుల బంధము
గురు శిష్యుల బంధము
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
मंद मंद बहती हवा
मंद मंद बहती हवा
Soni Gupta
यादें मोहब्बत की
यादें मोहब्बत की
Mukesh Kumar Sonkar
ये सफर काटे से नहीं काटता
ये सफर काटे से नहीं काटता
The_dk_poetry
रम्भा की मी टू
रम्भा की मी टू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*प्रसादी जिसको देता है, उसे संसार कम देगा 【मुक्तक】*
*प्रसादी जिसको देता है, उसे संसार कम देगा 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पहाड़ पर कविता
पहाड़ पर कविता
Brijpal Singh
*मेरे मम्मी पापा*
*मेरे मम्मी पापा*
Dushyant Kumar
जल बचाओ, ना बहाओ।
जल बचाओ, ना बहाओ।
Buddha Prakash
Happy Father Day, Miss you Papa
Happy Father Day, Miss you Papa
संजय कुमार संजू
अगले बरस जल्दी आना
अगले बरस जल्दी आना
Kavita Chouhan
वेदनामृत
वेदनामृत
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
संवेदना मर रही
संवेदना मर रही
Ritu Asooja
तुम से प्यार नहीं करती।
तुम से प्यार नहीं करती।
लक्ष्मी सिंह
यादों के सहारे कट जाती है जिन्दगी,
यादों के सहारे कट जाती है जिन्दगी,
Ram Krishan Rastogi
!! एक ख्याल !!
!! एक ख्याल !!
Swara Kumari arya
"आधी है चन्द्रमा रात आधी "
Pushpraj Anant
Sometimes we feel like a colourless wall,
Sometimes we feel like a colourless wall,
Sakshi Tripathi
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
तुम पलाश मैं फूल तुम्हारा।
Dr. Seema Varma
वायरल होने का मतलब है सब जगह आप के ही चर्चे बिखरे पड़े हो।जो
वायरल होने का मतलब है सब जगह आप के ही चर्चे बिखरे पड़े हो।जो
Rj Anand Prajapati
Loading...