Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jun 2023 · 1 min read

कोरा कागज और मेरे अहसास…..

कोरा कागज और मेरे अहसास,
पता नहीं कितने दूर और कितने हैं पास!

सोचा उतार ही दूँ आज मैं भी अपने जज्बात,
बात में बात सोचती कि निकल गई रात!

कितने फ़ाड़े पन्ने लिखे जिन पर अन सुलझे सवाल,
दुःखी पन्ना भी मेरे शब्दों को रहा है टाल!!……..

जाने क्यों अंदर भाव का उमड़ रहा सागर आज??…..
डर है शब्दों की लहरें खोल ना दे,
अनसुने अहसास के राज!!…

लहरें भी टकरा रही किनारें से समेटने-
ख्वाबों की सिपियाँ अपार!
मगर डरती हूँ सुनहरे ख़्वाबों के पीछे
छुपे रहते है अंधकार!!….

कहीं लफ्ज़ में छुपे भेद गर पहुँच गये पार,
फिर शब्द पर किसका रहेगा अधिकार??….

और मन का ये परिंदा बोल रहा
मत रूक अभी भर और उड़ान!
खोल अभिव्यक्ति के पंख,
अपने शब्द मंजरी की तू बागबान!!

लिख ना कुछ ऐसे अब तक जो-
नहीं लिखे अल्फ़ाज़!!… वर्ना,
कागज़ तुझे और शब्द कागज़ को-
तंग करने से
नहीं आयेंगे बाज़!!

बस लिख वो…..
पन्नों के साथ आ जाये,
जो दिलों को भी रास!!…
ओह!.. न जाने तब कैसे दिखेंगे स्याही से भीगे??
कोरे कागज़ पर मेरे अहसास!!

संतोष सोनी “तोषी”
जोधपुर ( राज.)

554 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सारा शहर अजनबी हो गया
सारा शहर अजनबी हो गया
Surinder blackpen
ছায়া যুদ্ধ
ছায়া যুদ্ধ
Otteri Selvakumar
जो लोग बाइक पर हेलमेट के जगह चश्मा लगाकर चलते है वो हेलमेट ल
जो लोग बाइक पर हेलमेट के जगह चश्मा लगाकर चलते है वो हेलमेट ल
Rj Anand Prajapati
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
*** तूने क्या-क्या चुराया ***
Chunnu Lal Gupta
2986.*पूर्णिका*
2986.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आदमी खरीदने लगा है आदमी को ऐसे कि-
आदमी खरीदने लगा है आदमी को ऐसे कि-
Mahendra Narayan
उन्हें क्या सज़ा मिली है, जो गुनाह कर रहे हैं
उन्हें क्या सज़ा मिली है, जो गुनाह कर रहे हैं
Shweta Soni
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
वो भ्रम है वास्तविकता नहीं है
वो भ्रम है वास्तविकता नहीं है
Keshav kishor Kumar
ये प्यार की है बातें, सुनलों जरा सुनाउँ !
ये प्यार की है बातें, सुनलों जरा सुनाउँ !
DrLakshman Jha Parimal
शब्द अनमोल मोती
शब्द अनमोल मोती
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
कुछ लोग
कुछ लोग
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
अभिनेत्री वाले सुझाव
अभिनेत्री वाले सुझाव
Raju Gajbhiye
होली का त्यौहार
होली का त्यौहार
Shriyansh Gupta
"महंगाई"
Slok maurya "umang"
डाइन
डाइन
अवध किशोर 'अवधू'
हिन्दू एकता
हिन्दू एकता
विजय कुमार अग्रवाल
इंद्रवती
इंद्रवती
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
सुंदर नयन सुन बिन अंजन,
सुंदर नयन सुन बिन अंजन,
Satish Srijan
*जीवन में मुस्काना सीखो (हिंदी गजल/गीतिका)*
*जीवन में मुस्काना सीखो (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
आई अमावस घर को आई
आई अमावस घर को आई
Suryakant Dwivedi
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
विमला महरिया मौज
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
बेफिक्री की उम्र बचपन
बेफिक्री की उम्र बचपन
Dr Parveen Thakur
!! प्रेम बारिश !!
!! प्रेम बारिश !!
The_dk_poetry
#धर्म
#धर्म
*प्रणय प्रभात*
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
सत्य कुमार प्रेमी
सादगी तो हमारी जरा……देखिए
सादगी तो हमारी जरा……देखिए
shabina. Naaz
सावन मे नारी।
सावन मे नारी।
Acharya Rama Nand Mandal
Loading...