Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jan 2023 · 1 min read

कोई हिन्दू हो या मूसलमां,

कोई हिन्दू हो या मूसलमां,
इबादत सब की है अच्छी ।
बशर्ते दिल हो पाकीज़ा,
मुहब्बत सच्ची हो रब से ।

-सतीश सृजन
लखनऊ

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Comments · 117 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
जय जय तिरंगा तुझको सलाम
जय जय तिरंगा तुझको सलाम
gurudeenverma198
*कागभुशुंडी जी थे ज्ञानी (चौपाइयॉं)*
*कागभुशुंडी जी थे ज्ञानी (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
आप और हम
आप और हम
Neeraj Agarwal
हाइकु .....चाय
हाइकु .....चाय
sushil sarna
*बिरहा की रात*
*बिरहा की रात*
Pushpraj Anant
■ आत्मावलोकन।
■ आत्मावलोकन।
*Author प्रणय प्रभात*
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
Vishvendra arya
फिर आओ की तुम्हे पुकारता हूं मैं
फिर आओ की तुम्हे पुकारता हूं मैं
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
बेटियाँ
बेटियाँ
Surinder blackpen
दोहा -
दोहा -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
किभी भी, किसी भी रूप में, किसी भी वजह से,
किभी भी, किसी भी रूप में, किसी भी वजह से,
शोभा कुमारी
Collect your efforts to through yourself on the sky .
Collect your efforts to through yourself on the sky .
Sakshi Tripathi
दया के सागरः लोककवि रामचरन गुप्त +रमेशराज
दया के सागरः लोककवि रामचरन गुप्त +रमेशराज
कवि रमेशराज
संत कबीरदास
संत कबीरदास
Pravesh Shinde
2897.*पूर्णिका*
2897.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
होंठ को छू लेता है सबसे पहले कुल्हड़
होंठ को छू लेता है सबसे पहले कुल्हड़
सिद्धार्थ गोरखपुरी
*****सबके मन मे राम *****
*****सबके मन मे राम *****
Kavita Chouhan
"आकुलता"- गीत
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आज की बेटियां
आज की बेटियां
Shekhar Chandra Mitra
.........?
.........?
शेखर सिंह
माँ
माँ
संजय कुमार संजू
❤बिना मतलब के जो बात करते है
❤बिना मतलब के जो बात करते है
Satyaveer vaishnav
अनुभूति
अनुभूति
Dr. Kishan tandon kranti
माना मैं उसके घर नहीं जाता,
माना मैं उसके घर नहीं जाता,
डी. के. निवातिया
दुश्मनी इस तरह निभायेगा ।
दुश्मनी इस तरह निभायेगा ।
Dr fauzia Naseem shad
कौन कहता है कि लहजा कुछ नहीं होता...
कौन कहता है कि लहजा कुछ नहीं होता...
कवि दीपक बवेजा
बुलेटप्रूफ गाड़ी
बुलेटप्रूफ गाड़ी
Shivkumar Bilagrami
विनम्रता, साधुता दयालुता  सभ्यता एवं गंभीरता जवानी ढलने पर आ
विनम्रता, साधुता दयालुता सभ्यता एवं गंभीरता जवानी ढलने पर आ
Rj Anand Prajapati
शुक्रिया कोरोना
शुक्रिया कोरोना
Dr. Pradeep Kumar Sharma
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...