Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Dec 2023 · 1 min read

कोई हंस रहा है कोई रो रहा है 【निर्गुण भजन】

कोई हंस रहा है, कोई रो रहा है
ओ दुनियाँँ के मालिक तू, कहाँँ सो रहा है
कोई हंस………..
1) ये कैसी अनोखी है, जीवन की रेखा
कोई रोता तो, कोई मगरूर देखा
तेरा न्याय पल्डा़, कहाँँ झुक रहा है
कोई हंस…………..
2) किसी घर का दामन, खुशी से भरा है
कोई घर क्यों मातम के, भय से डरा है
बता लिखने वाले तू, क्या लिख रहा है
कोई हंस …………
3) कोई शानो शौकत से, ना वाज आये
गरीबी किसी को जी, भर के रुलाये
ओ सुन देने वाले, तू ये क्या दे रहा है
कोई हंस………….
4) तेरे भव की नैया में, बैठे हैं हम सब
तू इतना बता एक, होवेंगे हम कब
तेरी आस में सब, स्वाहा हो रहा है
कोई हंस…………
लेखक:- खैमसिहं सैनी
गाँव – गोविंदपुरा, पो. मुहारी,
तहसील – वैर, भरतपुर
M.A, M.Ed, B.Ed
Mob.No. 9266034599

1 Like · 144 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज हालत है कैसी ये संसार की।
आज हालत है कैसी ये संसार की।
सत्य कुमार प्रेमी
मारुति मं बालम जी मनैं
मारुति मं बालम जी मनैं
gurudeenverma198
वह बरगद की छाया न जाने कहाॅ॑ खो गई
वह बरगद की छाया न जाने कहाॅ॑ खो गई
VINOD CHAUHAN
वक़्त होता
वक़्त होता
Dr fauzia Naseem shad
ଆପଣ କିଏ??
ଆପଣ କିଏ??
Otteri Selvakumar
Dont worry
Dont worry
*Author प्रणय प्रभात*
आओ मिलकर नया साल मनाये*
आओ मिलकर नया साल मनाये*
Naushaba Suriya
हम मोहब्बत की निशानियाँ छोड़ जाएंगे
हम मोहब्बत की निशानियाँ छोड़ जाएंगे
Dr Tabassum Jahan
बोर्ड परीक्षाऍं बनीं, ज्यों जी का जंजाल
बोर्ड परीक्षाऍं बनीं, ज्यों जी का जंजाल
Ravi Prakash
* माथा खराब है *
* माथा खराब है *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आप और हम जीवन के सच ..........एक प्रयास
आप और हम जीवन के सच ..........एक प्रयास
Neeraj Agarwal
भगवा रंग में रंगें सभी,
भगवा रंग में रंगें सभी,
Neelam Sharma
जिसकी तस्दीक चाँद करता है
जिसकी तस्दीक चाँद करता है
Shweta Soni
💐अज्ञात के प्रति-78💐
💐अज्ञात के प्रति-78💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
यूं जो उसको तकते हो।
यूं जो उसको तकते हो।
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
“ जीवन साथी”
“ जीवन साथी”
DrLakshman Jha Parimal
दुर्गा माँ
दुर्गा माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*नयी पीढ़ियों को दें उपहार*
*नयी पीढ़ियों को दें उपहार*
Poonam Matia
2333.पूर्णिका
2333.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
संस्कारी बड़ी - बड़ी बातें करना अच्छी बात है, इनको जीवन में
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
जल बचाओ, ना बहाओ।
जल बचाओ, ना बहाओ।
Buddha Prakash
14- वसुधैव कुटुम्ब की, गरिमा बढाइये
14- वसुधैव कुटुम्ब की, गरिमा बढाइये
Ajay Kumar Vimal
** दूर कैसे रहेंगे **
** दूर कैसे रहेंगे **
Chunnu Lal Gupta
कहाँ अब पहले जैसी सादगी है
कहाँ अब पहले जैसी सादगी है
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा "वास्तविकता रूह को सुकून देती है"
Rahul Singh
जन पक्ष में लेखनी चले
जन पक्ष में लेखनी चले
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
लोकतंत्र का मंत्र
लोकतंत्र का मंत्र
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
चुनाव
चुनाव
Mukesh Kumar Sonkar
दोहा पंचक. . . नारी
दोहा पंचक. . . नारी
sushil sarna
बहुत याद आता है वो वक़्त एक तेरे जाने के बाद
बहुत याद आता है वो वक़्त एक तेरे जाने के बाद
Dr. Seema Varma
Loading...