Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jun 2016 · 1 min read

कुण्डलिया

मँहगाई नकदी रहे, होती नहीं उदार |
इसका कब शनिवार या, होता है रविवार ||
होता है रविवार, जहाँ इक छुट्टी का दिन,
वहीँ पसारे पैर, और ले बदले गिन गिन,
मैं हूँ कवि मतिमंद, न जाना इसको भाई,
फूली है इस देश, सदा ही यह मँहगाई ||

~ अशोक कुमार रक्ताले

1 Like · 2 Comments · 526 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
झुकता हूं.......
झुकता हूं.......
A🇨🇭maanush
वापस
वापस
Harish Srivastava
*** आशा ही वो जहाज है....!!! ***
*** आशा ही वो जहाज है....!!! ***
VEDANTA PATEL
एक उलझन में हूं मैं
एक उलझन में हूं मैं
हिमांशु Kulshrestha
मौत से लड़ती जिंदगी..✍️🤔💯🌾🌷🌿
मौत से लड़ती जिंदगी..✍️🤔💯🌾🌷🌿
Ms.Ankit Halke jha
"कोई तो है"
Dr. Kishan tandon kranti
कालजई रचना
कालजई रचना
Shekhar Chandra Mitra
*अकड़ू-बकड़ू थे दो डाकू (बाल कविता )*
*अकड़ू-बकड़ू थे दो डाकू (बाल कविता )*
Ravi Prakash
बहुत उपयोगी जानकारी :-
बहुत उपयोगी जानकारी :-
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मातु काल रात्रि
मातु काल रात्रि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
आखिरी उम्मीद
आखिरी उम्मीद
Surya Barman
इससे पहले कि ये जुलाई जाए
इससे पहले कि ये जुलाई जाए
Anil Mishra Prahari
हे देवाधिदेव गजानन
हे देवाधिदेव गजानन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
سب کو عید مبارک ہو،
سب کو عید مبارک ہو،
DrLakshman Jha Parimal
भूला नहीं हूँ मैं अभी भी
भूला नहीं हूँ मैं अभी भी
gurudeenverma198
THE GREY GODDESS!
THE GREY GODDESS!
Dhriti Mishra
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
subhash Rahat Barelvi
सबसे कठिन है
सबसे कठिन है
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
इश्क खुदा का घर
इश्क खुदा का घर
Surinder blackpen
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ये जो नखरें हमारी ज़िंदगी करने लगीं हैं..!
ये जो नखरें हमारी ज़िंदगी करने लगीं हैं..!
Hitanshu singh
क्वालिटी टाइम
क्वालिटी टाइम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
आता जब समय चुनाव का
आता जब समय चुनाव का
Gouri tiwari
*****खुद का परिचय *****
*****खुद का परिचय *****
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
2807. *पूर्णिका*
2807. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जमाने में
जमाने में
manjula chauhan
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
लक्ष्मी-पूजन का अर्थ है- विकारों से मुक्ति
कवि रमेशराज
दिल से जाना
दिल से जाना
Sangeeta Beniwal
■ मेरे स्लोगन (बेटी)
■ मेरे स्लोगन (बेटी)
*Author प्रणय प्रभात*
हे गुरुवर तुम सन्मति मेरी,
हे गुरुवर तुम सन्मति मेरी,
Kailash singh
Loading...