Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Sep 2023 · 1 min read

कुछ अजीब से वाक्या मेरे संग हो रहे हैं

कुछ अजीब से वाक्या मेरे संग हो रहे हैं
बेवजह ही कुछ लोग मुझसे तंग हो रहे हैं
अपने कर्म कोई यहां देखना नहीं चाहता
मानसिक रूप से बिलकुल अपंग हो रहे हैं

कवि आजाद मंडौरी

1 Like · 368 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मांओं को
मांओं को
Shweta Soni
अनादि
अनादि
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
इस तरह कुछ लोग हमसे
इस तरह कुछ लोग हमसे
Anis Shah
💐प्रेम कौतुक-536💐
💐प्रेम कौतुक-536💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
usne kuchh is tarah tarif ki meri.....ki mujhe uski tarif pa
Rakesh Singh
रस का सम्बन्ध विचार से
रस का सम्बन्ध विचार से
कवि रमेशराज
पर्यावरण
पर्यावरण
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
बलिदान
बलिदान
लक्ष्मी सिंह
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
बिल्ली मौसी (बाल कविता)
नाथ सोनांचली
विचारों की आंधी
विचारों की आंधी
Vishnu Prasad 'panchotiya'
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
दिल तोड़ना ,
दिल तोड़ना ,
Buddha Prakash
हुए अजनबी हैं अपने ,अपने ही शहर में।
हुए अजनबी हैं अपने ,अपने ही शहर में।
कुंवर तुफान सिंह निकुम्भ
खो कर खुद को,
खो कर खुद को,
Pramila sultan
2487.पूर्णिका
2487.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उम्मीद कभी तू ऐसी मत करना
उम्मीद कभी तू ऐसी मत करना
gurudeenverma198
रंजीत कुमार शुक्ल
रंजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet Kumar Shukla
प्रेम पथ का एक रोड़ा 🛣️🌵🌬️
प्रेम पथ का एक रोड़ा 🛣️🌵🌬️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
■ आज का मुक्तक...
■ आज का मुक्तक...
*Author प्रणय प्रभात*
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
अनिल कुमार
हरी भरी तुम सब्ज़ी खाओ|
हरी भरी तुम सब्ज़ी खाओ|
Vedha Singh
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर  में  व्यापार में ।
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर में व्यापार में ।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
एक ख़्वाहिश
एक ख़्वाहिश
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
*भादो श्री कृष्णाष्टमी ,उदय कृष्ण अवतार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
धरती ने जलवाष्पों को आसमान तक संदेश भिजवाया
ruby kumari
दिखावा
दिखावा
Swami Ganganiya
!! सत्य !!
!! सत्य !!
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
दगा बाज़ आसूं
दगा बाज़ आसूं
Surya Barman
(दम)
(दम)
महेश कुमार (हरियाणवी)
Loading...