Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Sep 2016 · 1 min read

कुंडलिया

“कुण्डलिया छंद”

गुरुवर साधें साधना, शिष्य सृजन रखवार
बिना ज्ञान गुरुता नहीं, बिना नाव पतवार
बिना नाव पतवार, तरे नहि डूबे दरिया
बिन शिक्षा अँधियार, जीवनी यम की घरिया
कह गौतम चितलाय, इकसूत्री शिक्षा रघुवर
गाँव शहर तक जाय, ज्ञान भल फैले गुरुवर॥

महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

Language: Hindi
1 Comment · 489 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-224💐
💐प्रेम कौतुक-224💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पुराने सिक्के
पुराने सिक्के
Satish Srijan
बेटी हूँ माँ तेरी
बेटी हूँ माँ तेरी
Deepesh purohit
# लोकतंत्र .....
# लोकतंत्र .....
Chinta netam " मन "
मानसिक रोगों का उपचार संभव है
मानसिक रोगों का उपचार संभव है
Ms.Ankit Halke jha
*
*"शबरी"*
Shashi kala vyas
3009.*पूर्णिका*
3009.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अहं
अहं
Shyam Sundar Subramanian
सपनों का राजकुमार
सपनों का राजकुमार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
रमेशराज के साम्प्रदायिक सद्भाव के गीत
कवि रमेशराज
आज फिर दर्द के किस्से
आज फिर दर्द के किस्से
Shailendra Aseem
!! ये सच है कि !!
!! ये सच है कि !!
Chunnu Lal Gupta
"तेरे बारे में"
Dr. Kishan tandon kranti
* प्रभु राम के *
* प्रभु राम के *
surenderpal vaidya
फितरत ना बदल सका
फितरत ना बदल सका
goutam shaw
तूफान आया और
तूफान आया और
Dr Manju Saini
*सबसे प्रेम कर अनुकूल कर लेना (मुक्तक)*
*सबसे प्रेम कर अनुकूल कर लेना (मुक्तक)*
Ravi Prakash
इश्क़ का कुछ अलग ही फितूर था हम पर,
इश्क़ का कुछ अलग ही फितूर था हम पर,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अब गूंजेगे मोहब्बत के तराने
अब गूंजेगे मोहब्बत के तराने
Surinder blackpen
मेरी शक्ति
मेरी शक्ति
Dr.Priya Soni Khare
परिवार होना चाहिए
परिवार होना चाहिए
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
बम भोले।
बम भोले।
Anil Mishra Prahari
जुदाई
जुदाई
Dr. Seema Varma
अबके रंग लगाना है
अबके रंग लगाना है
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
गोरे तन पर गर्व न करियो (भजन)
Khaimsingh Saini
खुद से उम्मीद लगाओगे तो खुद को निखार पाओगे
खुद से उम्मीद लगाओगे तो खुद को निखार पाओगे
ruby kumari
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
कुछ लिखा हू तुम्हारी यादो में
देवराज यादव
मोहि मन भावै, स्नेह की बोली,
मोहि मन भावै, स्नेह की बोली,
राकेश चौरसिया
बुद्ध के विचारों की प्रासंगिकता
बुद्ध के विचारों की प्रासंगिकता
मनोज कर्ण
बदले नहीं है आज भी लड़के
बदले नहीं है आज भी लड़के
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...