Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jan 2024 · 1 min read

कुंडलिया छंद

करिए जीवन में सदा, राम नाम का जाप ।
लोक-वेद मत है यही, मिटें सभी त्रय ताप ।
मिटें सभी त्रय ताप, डालतीं खुशियाँ डेरा।.
आए मंगल भोर, छँटे घनघोर अंधेरा।
चलें धर्म की राह, पाप-पथ पैर न धरिए।
मर्यादा के धाम, राम की पूजा करिए ।।
डाॅ बिपिन पाण्डेय

1 Like · 1 Comment · 69 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कामयाब लोग,
कामयाब लोग,
नेताम आर सी
जगन्नाथ रथ यात्रा
जगन्नाथ रथ यात्रा
Pooja Singh
" परदेशी पिया "
Pushpraj Anant
*बड़ा आदमी बनना है तो, कर प्यारे घोटाला (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*बड़ा आदमी बनना है तो, कर प्यारे घोटाला (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
In adverse circumstances, neither the behavior nor the festi
In adverse circumstances, neither the behavior nor the festi
सिद्धार्थ गोरखपुरी
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
আজ রাতে তোমায় শেষ চিঠি লিখবো,
Sakhawat Jisan
आसान शब्द में समझिए, मेरे प्यार की कहानी।
आसान शब्द में समझिए, मेरे प्यार की कहानी।
पूर्वार्थ
आदिपुरुष समीक्षा
आदिपुरुष समीक्षा
Dr.Archannaa Mishraa
अपना ख्याल रखियें
अपना ख्याल रखियें
Dr Shweta sood
चांद कहां रहते हो तुम
चांद कहां रहते हो तुम
Surinder blackpen
गुस्सा करते–करते हम सैचुरेटेड हो जाते हैं, और, हम वाजिब गुस्
गुस्सा करते–करते हम सैचुरेटेड हो जाते हैं, और, हम वाजिब गुस्
Dr MusafiR BaithA
चेहरे की मुस्कान छीनी किसी ने किसी ने से आंसू गिराए हैं
चेहरे की मुस्कान छीनी किसी ने किसी ने से आंसू गिराए हैं
Anand.sharma
सफ़ेद चमड़ी और सफेद कुर्ते से
सफ़ेद चमड़ी और सफेद कुर्ते से
Harminder Kaur
"नया अवतार"
Dr. Kishan tandon kranti
हमारी मंजिल को एक अच्छा सा ख्वाब देंगे हम!
हमारी मंजिल को एक अच्छा सा ख्वाब देंगे हम!
Diwakar Mahto
मैं शायर भी हूँ,
मैं शायर भी हूँ,
Dr. Man Mohan Krishna
एक तरफ
एक तरफ
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सच्चाई की कीमत
सच्चाई की कीमत
Dr Parveen Thakur
सरस्वती वंदना-4
सरस्वती वंदना-4
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जीवन दिव्य बन जाता
जीवन दिव्य बन जाता
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
💐अज्ञात के प्रति-64💐
💐अज्ञात के प्रति-64💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
द्वितीय ब्रह्मचारिणी
द्वितीय ब्रह्मचारिणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
2585.पूर्णिका
2585.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चर्बी लगे कारतूसों के कारण नहीं हुई 1857 की क्रान्ति
चर्बी लगे कारतूसों के कारण नहीं हुई 1857 की क्रान्ति
कवि रमेशराज
हम उलझते रहे हिंदू , मुस्लिम की पहचान में
हम उलझते रहे हिंदू , मुस्लिम की पहचान में
श्याम सिंह बिष्ट
सुना था कि इंतज़ार का फल मीठा होता है।
सुना था कि इंतज़ार का फल मीठा होता है।
*Author प्रणय प्रभात*
नारियां
नारियां
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
सजि गेल अयोध्या धाम
सजि गेल अयोध्या धाम
मनोज कर्ण
कायम रखें उत्साह
कायम रखें उत्साह
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
लिख दो किताबों पर मां और बापू का नाम याद आए तो पढ़ो सुबह दोप
लिख दो किताबों पर मां और बापू का नाम याद आए तो पढ़ो सुबह दोप
★ IPS KAMAL THAKUR ★
Loading...