Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2023 · 1 min read

किस क़दर आसान था

किस क़दर आसान था
तुमसे प्यार करना,
बेहद आसान था
तुम्हारे साथ चलना,
कितना खूबसूरत ख्याल था
तुम्हारे साथ जीना,
बहुत आसान था
तुम्हारे लिए सबसे लड़ जाना
बस मुश्किल था,
या कहो ग़ैर मुमकिन था
हमारा मिलना और एक हो जाना!!

हिमांशु Kulshreshtha

331 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नरसिंह अवतार विष्णु जी
नरसिंह अवतार विष्णु जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
खंडकाव्य
खंडकाव्य
Suryakant Dwivedi
रोजाना आता नई , खबरें ले अखबार (कुंडलिया)
रोजाना आता नई , खबरें ले अखबार (कुंडलिया)
Ravi Prakash
🌸मन की भाषा 🌸
🌸मन की भाषा 🌸
Mahima shukla
इश्क
इश्क
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अक्षय तृतीया ( आखा तीज )
अक्षय तृतीया ( आखा तीज )
डॉ.सीमा अग्रवाल
प्यार और विश्वास
प्यार और विश्वास
Harminder Kaur
मोहब्बत है अगर तुमको जिंदगी से
मोहब्बत है अगर तुमको जिंदगी से
gurudeenverma198
संघर्ष हमारा जीतेगा,
संघर्ष हमारा जीतेगा,
Shweta Soni
तेरी खुशबू
तेरी खुशबू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कठोर व कोमल
कठोर व कोमल
surenderpal vaidya
पानी का संकट
पानी का संकट
Seema gupta,Alwar
राष्ट्रीय किसान दिवस : भारतीय किसान
राष्ट्रीय किसान दिवस : भारतीय किसान
Satish Srijan
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
घड़ी
घड़ी
SHAMA PARVEEN
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
तेरा मेरा साथ
तेरा मेरा साथ
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
समय यात्रा: मिथक या वास्तविकता?
Shyam Sundar Subramanian
चुप रहना भी तो एक हल है।
चुप रहना भी तो एक हल है।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
लम्हे
लम्हे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
भगवान कहाँ है तू?
भगवान कहाँ है तू?
Bodhisatva kastooriya
दृढ़ निश्चय
दृढ़ निश्चय
RAKESH RAKESH
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
दुनियां में मेरे सामने क्या क्या बदल गया।
दुनियां में मेरे सामने क्या क्या बदल गया।
सत्य कुमार प्रेमी
अन्तर्मन
अन्तर्मन
Dr. Upasana Pandey
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
Dr. Man Mohan Krishna
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
चुप्पी और गुस्से का वर्णभेद / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
तेरी सुंदरता पर कोई कविता लिखते हैं।
तेरी सुंदरता पर कोई कविता लिखते हैं।
Taj Mohammad
LALSA
LALSA
Raju Gajbhiye
"कैसे व्याख्या करूँ?"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...