Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 30, 2016 · 1 min read

किसी का टूट जाये दिल कभी वो बात मत कहिये

किसी का टूट जाये दिल कभी वो बात मत कहिये
मुहब्बत पाक बंधन है इसे ख़ैरात मत कहिये

सुबह से शाम तक इक आपकी ही फ़िक्र रहती है
मुहब्बत को हमारी यूँ सियासीयात मत कहिये

वफ़ादारी निभाता है कहाँ कोई ज़माने में
बिना जाँचे बिना परखे कभी जज़्बात मत कहिये

जुदाई ज़ख्म आँसू और जीवनभर की तन्हाई
मुहब्बत में हमें क्या-क्या मिली सौगात मत कहिये

निखरता है बशर मुश्किल पलों में ही सदा ‘माही’
कभी भी ज़िंदगानी में बुरे हालात मत कहिये

माही

199 Views
You may also like:
नदी सदृश जीवन
Manisha Manjari
जलियांवाला बाग
Shriyansh Gupta
पिता ईश्वर का दूसरा रूप है।
Taj Mohammad
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
या इलाही।
Taj Mohammad
कविता की महत्ता
Rj Anand Prajapati
✍️✍️व्यवस्था✍️✍️
"अशांत" शेखर
तेरा नसीब बना हूं।
Taj Mohammad
मुर्झाए हुए फूल तरछोडे जाते हैं....
Dr. Alpa H. Amin
ये जमीं आसमां।
Taj Mohammad
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
Born again with love...
Abhineet Mittal
जा बैठे
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"सुकून"
Lohit Tamta
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
भगवान की तलाश में इंसान
Ram Krishan Rastogi
अभिव्यक्ति की आजादी पर अंकुश
ओनिका सेतिया 'अनु '
पिता की याद
Meenakshi Nagar
चलो जिन्दगी को।
Taj Mohammad
मन ही बंधन - मन ही मोक्ष
Rj Anand Prajapati
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
धन-दौलत
AMRESH KUMAR VERMA
O brave soldiers.
Taj Mohammad
" मां" बच्चों की भाग्य विधाता
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
योगा
Utsav Kumar Aarya
THANKS
Vikas Sharma'Shivaaya'
"समय का पहिया"
Ajit Kumar "Karn"
महाभारत की नींव
ओनिका सेतिया 'अनु '
कबीर साहेब की शिक्षाएं
vikash Kumar Nidan
आकाश
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...