Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2021 · 1 min read

किनारे

किनारे

किनारे यूं ही हासिल नहीं होते
अपने प्रयासों को अपनी पतवार कर लो

मंजिल यूं ही कभी हासिल तहीं होती
अपनी कोशिशों को अपनी मंजिल का हमसफ़र कर लो

किनारों को यूं कभी कोसा नहीं करते
अपने प्रयासों को अपना हमदम कर लो

नाकाम प्रयासों को यूं कोसा नहीं करते
अपनी कोशिशों को अपने विश्वास से सींच कर देखो

सरोवर की गन्दगी पर यूं प्रश्न उठाया नहीं करते
उसे अपने प्रयासों से पावन कर देखो

स्वर्ग और नरक के प्रश्नों में , जिन्दगी को उलझाया नहीं करते
अपने सत्कर्मों से अपनी जिन्दगी को मोक्ष राह पर अग्रसर कर देखो

किनारे यूं ही हासिल नहीं होते
अपने प्रयासों को अपनी पतवार कर लो

मंजिल यूं ही कभी हासिल तहीं होती
अपनी कोशिशों को अपनी मंजिल का हमसफ़र कर लो

Language: Hindi
3 Likes · 2 Comments · 289 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
मजदूरों के मसीहा
मजदूरों के मसीहा
नेताम आर सी
पहले मैं इतना कमजोर था, कि ठीक से खड़ा भी नहीं हो पाता था।
पहले मैं इतना कमजोर था, कि ठीक से खड़ा भी नहीं हो पाता था।
SPK Sachin Lodhi
सफर पर है आज का दिन
सफर पर है आज का दिन
Sonit Parjapati
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
*साँसों ने तड़फना कब छोड़ा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
पिता के पदचिह्न (कविता)
पिता के पदचिह्न (कविता)
गुमनाम 'बाबा'
पक्की छत
पक्की छत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जनता हर पल बेचैन
जनता हर पल बेचैन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सुख की तलाश आंख- मिचौली का खेल है जब तुम उसे खोजते हो ,तो वह
सुख की तलाश आंख- मिचौली का खेल है जब तुम उसे खोजते हो ,तो वह
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
हज़ारों साल
हज़ारों साल
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
नव्य द्वीप का रहने वाला
नव्य द्वीप का रहने वाला
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
एक गुनगुनी धूप
एक गुनगुनी धूप
Saraswati Bajpai
🥗फीका 💦 त्योहार 💥 (नाट्य रूपांतरण)
🥗फीका 💦 त्योहार 💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
* भीतर से रंगीन, शिष्टता ऊपर से पर लादी【हिंदी गजल/ गीति
* भीतर से रंगीन, शिष्टता ऊपर से पर लादी【हिंदी गजल/ गीति
Ravi Prakash
🙅आज का आनंद🙅
🙅आज का आनंद🙅
*प्रणय प्रभात*
आवो पधारो घर मेरे गणपति
आवो पधारो घर मेरे गणपति
gurudeenverma198
खुशियों की डिलीवरी
खुशियों की डिलीवरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हार नहीं होती
हार नहीं होती
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
कवि रमेशराज
विश्व हिन्दी दिवस पर कुछ दोहे :.....
विश्व हिन्दी दिवस पर कुछ दोहे :.....
sushil sarna
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
मैथिली पेटपोसुआ के गोंधियागिरी?
Dr. Kishan Karigar
उदास शख्सियत सादा लिबास जैसी हूँ
उदास शख्सियत सादा लिबास जैसी हूँ
Shweta Soni
वादे खिलाफी भी कर,
वादे खिलाफी भी कर,
Mahender Singh
फ़लसफ़ा है जिंदगी का मुस्कुराते जाना।
फ़लसफ़ा है जिंदगी का मुस्कुराते जाना।
Manisha Manjari
मत भूल खुद को!
मत भूल खुद को!
Sueta Dutt Chaudhary Fiji
मेरे होते हुए जब गैर से वो बात करती हैं।
मेरे होते हुए जब गैर से वो बात करती हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
"क्रान्ति"
Dr. Kishan tandon kranti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ओम के दोहे
ओम के दोहे
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
3386⚘ *पूर्णिका* ⚘
3386⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
Loading...