Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jan 2024 · 1 min read

काली हवा ( ये दिल्ली है मेरे यार…)

धुँए की चिमनी में जीना
या मर मर कर
जीते रहने का
ढोंग करना
मजबूरी है हमारी।
हवा में ये जहर
घोला किसने?
जीवन को सस्ता
तोला किसने?
सबका एक मत
नहीं ज़िम्मेदारी हमारी।

हम तो बस जानते हैं इतना
ये अधिकार है अपना

मनाएं त्यौहार
जलाएँ बारूद
करें मनचाहा, उड़ाएं धुँआ।
(आखिर स्वतंत्र देश के
स्वतंत्र नागरिक हैं हम)

प्रदूषण बढ़ा, जिम्मेदार सरकार
पेड़ लगाना, सरकार का काम
हमें चाहिए, केवल आराम
शहर है ये आलीशान
ऊँचे-ऊँचे मकान
इसकी हैं शान ।

खेत खलिहान ?
इनका यहाँ क्या काम?
शुद्ध हवा, हमारा अधिकार
उपलब्ध कराना
सरकार का काम
हम हैं विद्वान
बड़े महान
हम क्यों करें
वृक्षारोपण का काम?

डॉ मंजु सिंह गुप्ता

Language: Hindi
1 Like · 88 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
??????...
??????...
शेखर सिंह
- अपनो का दर्द सहते सहनशील हो गए हम -
- अपनो का दर्द सहते सहनशील हो गए हम -
bharat gehlot
ऊपर बने रिश्ते
ऊपर बने रिश्ते
विजय कुमार अग्रवाल
मेरी रातों की नींद क्यों चुराते हो
मेरी रातों की नींद क्यों चुराते हो
Ram Krishan Rastogi
"सूनी मांग" पार्ट-2
Radhakishan R. Mundhra
पुरखों की याद🙏🙏
पुरखों की याद🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
अरशद रसूल बदायूंनी
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
रिटर्न गिफ्ट
रिटर्न गिफ्ट
विनोद सिल्ला
*युद्ध*
*युद्ध*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
2444.पूर्णिका
2444.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मैं वो चीज़ हूं जो इश्क़ में मर जाऊंगी।
मैं वो चीज़ हूं जो इश्क़ में मर जाऊंगी।
Phool gufran
अफ़सोस का बीज
अफ़सोस का बीज
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सब कुर्सी का खेल है
सब कुर्सी का खेल है
नेताम आर सी
दूसरों की आलोचना
दूसरों की आलोचना
Dr.Rashmi Mishra
यारों का यार भगतसिंह
यारों का यार भगतसिंह
Shekhar Chandra Mitra
गीत
गीत
जगदीश शर्मा सहज
मौज-मस्ती
मौज-मस्ती
Vandna Thakur
कोई मोहताज
कोई मोहताज
Dr fauzia Naseem shad
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
मेरी निजी जुबान है, हिन्दी ही दोस्तों
SHAMA PARVEEN
शिव  से   ही   है  सृष्टि
शिव से ही है सृष्टि
Paras Nath Jha
घर आ जाओ अब महारानी (उपालंभ गीत)
घर आ जाओ अब महारानी (उपालंभ गीत)
गुमनाम 'बाबा'
किधर चले हो यूं मोड़कर मुँह मुझे सनम तुम न अब सताओ
किधर चले हो यूं मोड़कर मुँह मुझे सनम तुम न अब सताओ
Dr Archana Gupta
🙏 *गुरु चरणों की धूल* 🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल* 🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
गर्मी की छुट्टी में होमवर्क (बाल कविता )
Ravi Prakash
बापू गाँधी
बापू गाँधी
Kavita Chouhan
" क्यूँ "
Dr. Kishan tandon kranti
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
gurudeenverma198
माँ का अछोर आंचल / मुसाफ़िर बैठा
माँ का अछोर आंचल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
Loading...