Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jul 2023 · 1 min read

काफी है

भरी महफिल में तेरा, इशारा काफी है
तेरे बिन जीवन का, गुजारा काफी है
बचा है मेरे पास बस इतना
मेरे जीवन में तेरी यादों का, सहारा काफी है।

हर रोज मरम्मत करता हु, अपने दिल को
टालते रहता हु मै, हर मुश्किल को
संवारना होता, तो सवर गए होते
अब बचा खुचा जो भी है, गवारा काफी है ।

नसीब में लिखा है जो, उसे कौन टाल सकता
जीवन में जीत हो, तो कौन हार सकता
दोष तो अंत में कर्म का देते है
अब जो कुछ भी है, हमारा काफी है।

जुदा किस किस से, होना पड़ेगा मुझे
मै नही जानता, क्या क्या और ढोना पड़ेगा मुझे
सब कुछ तो मेरे बस में नहीं
पर देखने वालो के लिय, ये नजारा काफी है।

✍️ बसंत भगवान राय

Language: Hindi
296 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Basant Bhagawan Roy
View all
You may also like:
गौतम बुद्ध है बड़े महान
गौतम बुद्ध है बड़े महान
Buddha Prakash
■ आज का शेर...।।
■ आज का शेर...।।
*Author प्रणय प्रभात*
लड़ते रहो
लड़ते रहो
Vivek Pandey
*दीपावली का ऐतिहासिक महत्व*
*दीपावली का ऐतिहासिक महत्व*
Harminder Kaur
विकृतियों की गंध
विकृतियों की गंध
Kaushal Kishor Bhatt
बूढ़ा बरगद का पेड़ बोला (मार्मिक कविता)
बूढ़ा बरगद का पेड़ बोला (मार्मिक कविता)
Dr. Kishan Karigar
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
माइल है दर्दे-ज़ीस्त,मिरे जिस्मो-जाँ के बीच
Sarfaraz Ahmed Aasee
*रिश्ते*
*रिश्ते*
Dushyant Kumar
"रिश्ते"
Dr. Kishan tandon kranti
संविधान की मौलिकता
संविधान की मौलिकता
Shekhar Chandra Mitra
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
लोकसभा बसंती चोला,
लोकसभा बसंती चोला,
SPK Sachin Lodhi
शायर की मोहब्बत
शायर की मोहब्बत
Madhuyanka Raj
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
Ram Krishan Rastogi
2290.पूर्णिका
2290.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
सोशल मीडिया पर दूसरे के लिए लड़ने वाले एक बार ज़रूर पढ़े…
Anand Kumar
हमेशा सही के साथ खड़े रहें,
हमेशा सही के साथ खड़े रहें,
नेताम आर सी
"तेरी याद"
Pushpraj Anant
शब्द
शब्द
ओंकार मिश्र
सफल
सफल
Paras Nath Jha
देव-कृपा / कहानीकार : Buddhsharan Hans
देव-कृपा / कहानीकार : Buddhsharan Hans
Dr MusafiR BaithA
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
सोनू की चतुराई
सोनू की चतुराई
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*दो बूढ़े माँ बाप (नौ दोहे)*
*दो बूढ़े माँ बाप (नौ दोहे)*
Ravi Prakash
"जंगल की सैर”
पंकज कुमार कर्ण
5) कब आओगे मोहन
5) कब आओगे मोहन
पूनम झा 'प्रथमा'
अमीर
अमीर
Punam Pande
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
कवि दीपक बवेजा
मैं सत्य सनातन का साक्षी
मैं सत्य सनातन का साक्षी
Mohan Pandey
Loading...