Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Jan 2023 · 1 min read

कविता: सपना

कविता: सपना
************

~रात सपनों में आई वो,
~फूलों सी मुस्काई वो।
~पूछा जो हाल उसका,
~मुझसे थोड़ा शर्माई वो।।
रात सपनों में आई वो ….

~नैना बड़े कटीले उसके,
~बाल गोल घुंघरीले उसके।
~नाक उसकी हीरे जड़ी,
~होंठ जैसे गुलाब पंखुड़ी।
~कानों में सोने की बाली,
~गालों से मलाई वो।।
रात सपनों में आई वो …

~पास बैठी अहसास हुआ,
~जन्नत के मैं पास हुआ।
~मीठी बोली मैना जैसी,
~खुशियों की रैना जैसी।
~हाथ उसके आलेखन जैसे,
~जिनमें मेंहन्दी लगाई वो।।
रात सपनों में आई वो …

~रेशमी कपड़े मोती जड़े,
~जैसे पूर्णिमा में सितारे जड़े।
~जब चली वापिस मुड़कर,
~मोरनी सी आकाश में उड़कर।
~रोका बहुत पर ना रुकी,
~ना फिर लौटकर आई वो।।
रात सपनों में आई वो ….

~रात सपनों में आई वो,
~फूलों सी मुस्काई वो।
~पूछा जो हाल उसका,
~मुझसे थोड़ा शर्माई वो।।

************📚************

स्वरचित कविता 📝
✍️रचनाकार:
राजेश कुमार अर्जुन

7 Likes · 1 Comment · 305 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*मौत आग का दरिया*
*मौत आग का दरिया*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आलेख-गोविन्द सागर बांध ललितपुर उत्तर प्रदेश
आलेख-गोविन्द सागर बांध ललितपुर उत्तर प्रदेश
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बिटिया  घर  की  ससुराल  चली, मन  में सब संशय पाल रहे।
बिटिया घर की ससुराल चली, मन में सब संशय पाल रहे।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हरियर जिनगी म सजगे पियर रंग
हरियर जिनगी म सजगे पियर रंग
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
जन्म से मृत्यु तक भारत वर्ष मे संस्कारों का मेला है
जन्म से मृत्यु तक भारत वर्ष मे संस्कारों का मेला है
Satyaveer vaishnav
हिंदी माता की आराधना
हिंदी माता की आराधना
ओनिका सेतिया 'अनु '
"देश भक्ति गीत"
Slok maurya "umang"
#मसखरी...
#मसखरी...
*प्रणय प्रभात*
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
ध्यान सारा लगा था सफर की तरफ़
अरशद रसूल बदायूंनी
जाने वाले का शुक्रिया, आने वाले को सलाम।
जाने वाले का शुक्रिया, आने वाले को सलाम।
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
* तेरी सौग़ात*
* तेरी सौग़ात*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
💜सपना हावय मोरो💜
💜सपना हावय मोरो💜
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
3471🌷 *पूर्णिका* 🌷
3471🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
"निक्कू खरगोश"
Dr Meenu Poonia
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
आबाद वतन रखना, महका चमन रखना
gurudeenverma198
दर्द का बस
दर्द का बस
Dr fauzia Naseem shad
जीवन में सफलता छोटी हो या बड़ी
जीवन में सफलता छोटी हो या बड़ी
Dr.Rashmi Mishra
*ड्राइंग-रूम में सजी सुंदर पुस्तकें (हास्य व्यंग्य)*
*ड्राइंग-रूम में सजी सुंदर पुस्तकें (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
लिख सकता हूँ ।।
लिख सकता हूँ ।।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
समय
समय
Swami Ganganiya
I am always in search of the
I am always in search of the "why",
Manisha Manjari
*** एक दौर....!!! ***
*** एक दौर....!!! ***
VEDANTA PATEL
निरोगी काया
निरोगी काया
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
"दिल का हाल सुने दिल वाला"
Pushpraj Anant
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो...
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो...
डॉ.सीमा अग्रवाल
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
आंसू
आंसू
नूरफातिमा खातून नूरी
कुंडलिया
कुंडलिया
sushil sarna
"कष्ट"
नेताम आर सी
सोना जेवर बनता है, तप जाने के बाद।
सोना जेवर बनता है, तप जाने के बाद।
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...