Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jun 2023 · 1 min read

कर ले प्यार हरि से

कर ले प्यार हरि से

जिंदगानी दिन चार,
कर ले प्यार हरि से।
न कर तू तकरार,
कर ले प्यार हरि से।

नासमझी में गया लड़कपन,
नशे में गयी जवानी।
प्रौढ़ हुआ तो धन की चिन्ता,
कभी लाभ कभी हानी।
बुढ़ेपन में रोगी काया,
सब लागे बेकार।
कर ले प्यार हरि से।

महल बनाया नौकर रखा
ले लिया मोटरकार।
अच्छा खाना और पहनना,
रंगीला संसार।
धन वैभव पद यहीं रह जाये,
परमारथ कर यार।
कर ले प्यार हरि से।

नेक कमाही, शाकाहारी,
मास मद्य न पाओ।
परनारी से तौबा कर लो,
संतोषी बन जाओ।
मात पिता की सेवा कर लो,
साध संगत है सार।
कर ले प्यार हरि से।

जीवन सफल बनाना है तो,
खोजो सतगुर पूरा।
युक्ति लेकर भक्ति कमाओ
रहो न कभी अधूरा।
पहुँचो रघुनन्दन के द्वार,
कर ले प्यार हरि से।

जिंदगानी दिन चार,
कर ले प्यार हरि से।

Language: Hindi
Tag: भजन
153 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Satish Srijan
View all
You may also like:
नर को न कभी कार्य बिना
नर को न कभी कार्य बिना
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
बड़े भाग मानुष तन पावा
बड़े भाग मानुष तन पावा
आकांक्षा राय
मैंने तुझे आमवस के चाँद से पूर्णिमा का चाँद बनाया है।
मैंने तुझे आमवस के चाँद से पूर्णिमा का चाँद बनाया है।
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
बहुत दाम हो गए
बहुत दाम हो गए
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
बुढ्ढे का सावन
बुढ्ढे का सावन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एक होस्टल कैंटीन में रोज़-रोज़
एक होस्टल कैंटीन में रोज़-रोज़
Rituraj shivem verma
♥️मां ♥️
♥️मां ♥️
Vandna thakur
23/71.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/71.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
वे सोचते हैं कि मार कर उनको
वे सोचते हैं कि मार कर उनको
VINOD CHAUHAN
जिंदगी की ऐसी ही बनती है, दास्तां एक यादगार
जिंदगी की ऐसी ही बनती है, दास्तां एक यादगार
gurudeenverma198
आदम का आदमी
आदम का आदमी
आनन्द मिश्र
#drarunkumarshastri♥️❤️
#drarunkumarshastri♥️❤️
DR ARUN KUMAR SHASTRI
करवां उसका आगे ही बढ़ता रहा।
करवां उसका आगे ही बढ़ता रहा।
सत्य कुमार प्रेमी
Game of the time
Game of the time
Mangilal 713
"सच्चाई"
Dr. Kishan tandon kranti
Bundeli Doha - birra
Bundeli Doha - birra
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
भारत ने रचा इतिहास।
भारत ने रचा इतिहास।
Anil Mishra Prahari
सम्बन्ध (नील पदम् के दोहे)
सम्बन्ध (नील पदम् के दोहे)
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
परोपकार
परोपकार
Raju Gajbhiye
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
Umender kumar
सपनों का राजकुमार
सपनों का राजकुमार
Dr. Pradeep Kumar Sharma
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
बस इतनी सी अभिलाषा मेरी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बहुत उम्मीदें थीं अपनी, मेरा कोई साथ दे देगा !
बहुत उम्मीदें थीं अपनी, मेरा कोई साथ दे देगा !
DrLakshman Jha Parimal
नादान प्रेम
नादान प्रेम
अनिल "आदर्श"
क्या बचा  है अब बदहवास जिंदगी के लिए
क्या बचा है अब बदहवास जिंदगी के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
भक्त कवि स्वर्गीय श्री रविदेव_रामायणी*
भक्त कवि स्वर्गीय श्री रविदेव_रामायणी*
Ravi Prakash
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
Trishika S Dhara
■ शर्मनाक प्रपंच...
■ शर्मनाक प्रपंच...
*प्रणय प्रभात*
पिता
पिता
Neeraj Agarwal
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
Loading...