Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2024 · 1 min read

करोगे रूह से जो काम दिल रुस्तम बना दोगे

करोगे रूह से जो काम दिल रुस्तम बना दोगे
करेंगे लोग सज़दा सब बुरा सिस्टम हिला दोगे
बहानों से यहाँ मंज़िल नहीं हासिल कभी होती
करो मेहनत जले शोले भी तुम शबनम बना दोगे

आर. एस. ‘प्रीतम’
शब्दार्थ- रूह- आत्मा, रुस्तम- शूरवीर, सज़दा- झुककर सलाम करना, शबनम- ओश की बूँद

1 Like · 330 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from आर.एस. 'प्रीतम'
View all
You may also like:
आवारगी
आवारगी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3034.*पूर्णिका*
3034.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
रमेशराज के विरोधरस दोहे
रमेशराज के विरोधरस दोहे
कवि रमेशराज
यदि कोई केवल जरूरत पड़ने पर
यदि कोई केवल जरूरत पड़ने पर
नेताम आर सी
दोहे-*
दोहे-*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सत्य कुमार प्रेमी
नाराज नहीं हूँ मैं   बेसाज नहीं हूँ मैं
नाराज नहीं हूँ मैं बेसाज नहीं हूँ मैं
Priya princess panwar
नदी की बूंद
नदी की बूंद
Sanjay ' शून्य'
दशरथ मांझी होती हैं चीटियाँ
दशरथ मांझी होती हैं चीटियाँ
Dr MusafiR BaithA
"ख्वाहिश"
Dr. Kishan tandon kranti
यादें
यादें
Dr fauzia Naseem shad
आप आज शासक हैं
आप आज शासक हैं
DrLakshman Jha Parimal
"अकेडमी वाला इश्क़"
Lohit Tamta
■ पाठक लुप्त, लेखक शेष। मुग़ालते में आधी आबादी।
■ पाठक लुप्त, लेखक शेष। मुग़ालते में आधी आबादी।
*प्रणय प्रभात*
अमृत वचन
अमृत वचन
Dinesh Kumar Gangwar
......मंजिल का रास्ता....
......मंजिल का रास्ता....
Naushaba Suriya
संतुलन
संतुलन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
महान क्रांतिवीरों को नमन
महान क्रांतिवीरों को नमन
जगदीश शर्मा सहज
इतना आदर
इतना आदर
Basant Bhagawan Roy
माॅर्डन आशिक
माॅर्डन आशिक
Kanchan Khanna
बच्चों को बच्चा रहने दो
बच्चों को बच्चा रहने दो
Manu Vashistha
शांति वन से बापू बोले, होकर आहत हे राम रे
शांति वन से बापू बोले, होकर आहत हे राम रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ राज़ बताए थे अपनों को
कुछ राज़ बताए थे अपनों को
Rekha khichi
मेरे हाथों से छूट गई वो नाजुक सी डोर,
मेरे हाथों से छूट गई वो नाजुक सी डोर,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
श्री राम जी अलौकिक रूप
श्री राम जी अलौकिक रूप
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
कमियाबी क्या है
कमियाबी क्या है
पूर्वार्थ
अर्जक
अर्जक
Mahender Singh
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
दूसरों को खरी-खोटी सुनाने
Dr.Rashmi Mishra
खिलाड़ी
खिलाड़ी
महेश कुमार (हरियाणवी)
मोहक हरियाली
मोहक हरियाली
Surya Barman
Loading...