Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2022 · 2 min read

करना है, मतदान हमको

करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
माता सुन लो, सुन लो बहना।
पांच साल में फिर मत कहना।
लालच में तुम कभी ना बहना।
वोट हमारा अमूल्य गहना।
सब कर लो पहचान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
यह मत समझो एक वोट है।
चुनो न नेता, जिस में खोट है।
बहाना अब न कोई चलेगा।
वोटिंग को हर कोई चलेगा।
बिना वोट न काम चलेगा।
वोट है, लोकतंत्र की जान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
भाई भाभी चाची ताई,
आसपास के सुन लो भाई।
किसान बाबू और हलवाई।
जो हमारी बात सुने ना,
ऐसा नेता कभी चुनो ना।
मेरी बात लो मान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
सच्चाई रखे, ईमानदार हो।
कर्तव्यो का समझे सार वो।
जनता इसकी न शिकार हो।
शिक्षा को माने आधार वो।
कार्यों के बल पर ही पाए,
वो गैरों से मान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
ऊंच-नीच न भेदभाव रखें।
जात पात न ईर्ष्या भाव।
वोट की कीमत जानो भईया।
पांच साल का रखो हिसाब।
बोओगे जैसा वैसा फलेगा।
बनेगा देश तभी महान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
अपना नेता, खुद ही चुनोगे।
अपना भविष्य खुद ही बुनोगे।
वोट की ताकत जब समझोगे।
सोच समझकर वोटिंग करोगे।
पांच साल न उल्लू बनोगे।
रखना सोच समझकर ध्यान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
संविधान को मानकर चलें।
महापुरुषों को कभी ना भूले।
शासन प्रशासन सख्त वो रखे।
जनता को वो त्रस्त ना रखें।
गलत को सही ना बतलाए।
ऐसा चुनो विद्वान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
अपना नेता हम ही चुनते।
अपने लिए हम पिंजड़ा बुनते।
भविष्य में ना हो
विनाश।
अच्छा बुरा हमारे हाथ।
सबसे ज्यादा किससे आस।
जो रखे तुम्हारा मान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।
हर हाल में देना वोट।
मचलो ना तुम देखकर नोट।
मैं भी अगर रखता हूं, खोट।
तो मुझको भी क्यों देते वोट।
ऐसी ही तुम सोच रखोगे,
पकड़ो आज से कान।
करना है, मतदान हमको, करना है, मतदान।

शिक्षक नाम -दुष्यन्त कुमार (स० अ ०)
ग्राम- तरारा
ब्लॉक – हसनपुर
जिला-अमरोहा
मो.न.-9568140365

6 Likes · 2 Comments · 245 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dushyant Kumar
View all
You may also like:
अलसाई आँखे
अलसाई आँखे
A🇨🇭maanush
करवाचौथ
करवाचौथ
Mukesh Kumar Sonkar
दिल का मौसम सादा है
दिल का मौसम सादा है
Shweta Soni
3260.*पूर्णिका*
3260.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अपने आँसू
अपने आँसू
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
*घने मेघों से दिन को रात, करने आ गया सावन (मुक्तक)*
*घने मेघों से दिन को रात, करने आ गया सावन (मुक्तक)*
Ravi Prakash
दिव्य ज्ञान~
दिव्य ज्ञान~
दिनेश एल० "जैहिंद"
रिश्ते (एक अहसास)
रिश्ते (एक अहसास)
umesh mehra
फितरत है इंसान की
फितरत है इंसान की
आकाश महेशपुरी
हमें जीना सिखा रहे थे।
हमें जीना सिखा रहे थे।
Buddha Prakash
रोला छंद
रोला छंद
sushil sarna
जिस सामाज में रहकर प्राणी ,लोगों को न पहचान सके !
जिस सामाज में रहकर प्राणी ,लोगों को न पहचान सके !
DrLakshman Jha Parimal
सृष्टि का कण - कण शिवमय है।
सृष्टि का कण - कण शिवमय है।
Rj Anand Prajapati
भूतल अम्बर अम्बु में, सदा आपका वास।🙏
भूतल अम्बर अम्बु में, सदा आपका वास।🙏
संजीव शुक्ल 'सचिन'
रिश्तों में परीवार
रिश्तों में परीवार
Anil chobisa
माशूका नहीं बना सकते, तो कम से कम कोठे पर तो मत बिठाओ
माशूका नहीं बना सकते, तो कम से कम कोठे पर तो मत बिठाओ
Anand Kumar
शिक्षक दिवस
शिक्षक दिवस
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
डर से अपराधी नहीं,
डर से अपराधी नहीं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नन्ही मिष्ठी
नन्ही मिष्ठी
Manu Vashistha
सूरज मेरी उम्मीद का फिर से उभर गया........
सूरज मेरी उम्मीद का फिर से उभर गया........
shabina. Naaz
वो चिट्ठियां
वो चिट्ठियां
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
#सुप्रभात
#सुप्रभात
*Author प्रणय प्रभात*
नवरात्रि - गीत
नवरात्रि - गीत
Neeraj Agarwal
Rap song (1)
Rap song (1)
Nishant prakhar
* हो जाता ओझल *
* हो जाता ओझल *
surenderpal vaidya
पूछ रही हूं
पूछ रही हूं
Srishty Bansal
समस्त जगतकी बहर लहर पर,
समस्त जगतकी बहर लहर पर,
Neelam Sharma
I knew..
I knew..
Vandana maurya
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
कबूतर इस जमाने में कहां अब पाले जाते हैं
अरशद रसूल बदायूंनी
Loading...