Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Nov 2022 · 1 min read

*कभी मन भीग जाता है, नयन गीला नहीं होता (मुक्तक)*

कभी मन भीग जाता है, नयन गीला नहीं होता (मुक्तक)
________________________________
हमेशा जिंदगी का अर्थ, चमकीला नहीं होता
कभी बादल घिरे होते हैं, नभ नीला नहीं होता
हृदय में ऑंसुओं को रोक कर रखना भी पड़ता है
कभी मन भीग जाता है, नयन गीला नहीं होता
————————————-
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

Language: Hindi
142 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
जिन्दगी
जिन्दगी
Bodhisatva kastooriya
** बहुत दूर **
** बहुत दूर **
surenderpal vaidya
मुद्रा नियमित शिक्षण
मुद्रा नियमित शिक्षण
AJAY AMITABH SUMAN
तंग गलियों में मेरे सामने, तू आये ना कभी।
तंग गलियों में मेरे सामने, तू आये ना कभी।
Manisha Manjari
నమో సూర్య దేవా
నమో సూర్య దేవా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
कभी कभी ज़िंदगी में जैसे आप देखना चाहते आप इंसान को वैसे हीं
कभी कभी ज़िंदगी में जैसे आप देखना चाहते आप इंसान को वैसे हीं
पूर्वार्थ
रोम रोम है दर्द का दरिया,किसको हाल सुनाऊं
रोम रोम है दर्द का दरिया,किसको हाल सुनाऊं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आजकल का प्राणी कितना विचित्र है,
आजकल का प्राणी कितना विचित्र है,
Divya kumari
Saso ke dayre khuch is kadar simat kr rah gye
Saso ke dayre khuch is kadar simat kr rah gye
Sakshi Tripathi
अनमोल जीवन
अनमोल जीवन
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
आदमी के हालात कहां किसी के बस में होते हैं ।
आदमी के हालात कहां किसी के बस में होते हैं ।
sushil sarna
यशस्वी भव
यशस्वी भव
मनोज कर्ण
2788. *पूर्णिका*
2788. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रोबोटिक्स -एक समीक्षा
रोबोटिक्स -एक समीक्षा
Shyam Sundar Subramanian
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
नफ़रतों की बर्फ़ दिल में अब पिघलनी चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
हमारा अपना........ जीवन
हमारा अपना........ जीवन
Neeraj Agarwal
मन का आंगन
मन का आंगन
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
पेंशन
पेंशन
Sanjay ' शून्य'
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
संघर्ष
संघर्ष
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मात्र एक पल
मात्र एक पल
Ajay Mishra
हमने यूं ही नहीं मुड़ने का फैसला किया था
हमने यूं ही नहीं मुड़ने का फैसला किया था
कवि दीपक बवेजा
#कहमुकरी
#कहमुकरी
Suryakant Dwivedi
*लक्ष्मी प्रसाद जैन 'शाद' एडवोकेट और उनकी सेवाऍं*
*लक्ष्मी प्रसाद जैन 'शाद' एडवोकेट और उनकी सेवाऍं*
Ravi Prakash
ॐ
Prakash Chandra
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
पत्नी (दोहावली)
पत्नी (दोहावली)
Subhash Singhai
बाबा भीमराव अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस
बाबा भीमराव अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस
Buddha Prakash
Loading...