Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jan 2017 · 1 min read

,** कब कहा मैंने तुम्हें **

कब कहा मैंने तुम्हें जिंदगी रास्ता दे

कब कहा मैंने तुम्हें अपना वास्ता दे

रास्ते कुछ कहे अनकहे जाने अनजाने

कब कहा मैंने आकर मिल अपना वास्ता दे ।।

?मधुप बैरागी

Language: Hindi
1 Like · 263 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
चुनाव 2024
चुनाव 2024
Bodhisatva kastooriya
हर लम्हा
हर लम्हा
Dr fauzia Naseem shad
बसंत का मौसम
बसंत का मौसम
Awadhesh Kumar Singh
पढ़ाई -लिखाई एक स्त्री के जीवन का वह श्रृंगार है,
पढ़ाई -लिखाई एक स्त्री के जीवन का वह श्रृंगार है,
Aarti sirsat
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ना कोई हिन्दू गलत है,
ना कोई हिन्दू गलत है,
SPK Sachin Lodhi
खामोशी की आहट
खामोशी की आहट
Buddha Prakash
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
Ram Krishan Rastogi
किताबें भी बिल्कुल मेरी तरह हैं
किताबें भी बिल्कुल मेरी तरह हैं
Vivek Pandey
*गुड़िया प्यारी राज दुलारी*
*गुड़िया प्यारी राज दुलारी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आज, पापा की याद आई
आज, पापा की याद आई
Rajni kapoor
लिखते दिल के दर्द को
लिखते दिल के दर्द को
पूर्वार्थ
"दीप जले"
Shashi kala vyas
हम
हम "फलाने" को
*Author प्रणय प्रभात*
आंसू
आंसू
नूरफातिमा खातून नूरी
💐प्रेम कौतुक-546💐
💐प्रेम कौतुक-546💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस
अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस
Dr. Kishan tandon kranti
ये आँखें तेरे आने की उम्मीदें जोड़ती रहीं
ये आँखें तेरे आने की उम्मीदें जोड़ती रहीं
Kailash singh
जाने कहा गये वो लोग
जाने कहा गये वो लोग
Abasaheb Sarjerao Mhaske
घुंटन जीवन का🙏
घुंटन जीवन का🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*दो बूढ़े माँ बाप (नौ दोहे)*
*दो बूढ़े माँ बाप (नौ दोहे)*
Ravi Prakash
ख्वाब दिखाती हसरतें ,
ख्वाब दिखाती हसरतें ,
sushil sarna
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
23/50.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/50.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अगर ना मिले सुकून कहीं तो ढूंढ लेना खुद मे,
अगर ना मिले सुकून कहीं तो ढूंढ लेना खुद मे,
Ranjeet kumar patre
सहारा...
सहारा...
Naushaba Suriya
आवश्यक मतदान है
आवश्यक मतदान है
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
*हुस्न से विदाई*
*हुस्न से विदाई*
Dushyant Kumar
क्यों हो गया अब हमसे खफ़ा
क्यों हो गया अब हमसे खफ़ा
gurudeenverma198
Loading...