Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Aug 2023 · 1 min read

कई रात को भोर किया है

कई रात को भोर किया है
ऐसा हमने ये दौर किया है।

अपने अथक प्रयासों से..
दूर हमने घनघोर किया है।

✍️Deepak saral

1 Like · 206 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"साड़ी"
Dr. Kishan tandon kranti
इंसान में नैतिकता
इंसान में नैतिकता
Dr fauzia Naseem shad
अच्छे   बल्लेबाज  हैं,  गेंदबाज   दमदार।
अच्छे बल्लेबाज हैं, गेंदबाज दमदार।
दुष्यन्त 'बाबा'
गुजरते लम्हों से कुछ पल तुम्हारे लिए चुरा लिए हमने,
गुजरते लम्हों से कुछ पल तुम्हारे लिए चुरा लिए हमने,
Hanuman Ramawat
ਕਿਸਾਨੀ ਸੰਘਰਸ਼
ਕਿਸਾਨੀ ਸੰਘਰਸ਼
Surinder blackpen
*आ गया मौसम वसंती, फागुनी मधुमास है (गीत)*
*आ गया मौसम वसंती, फागुनी मधुमास है (गीत)*
Ravi Prakash
नाजायज इश्क
नाजायज इश्क
RAKESH RAKESH
अर्चना की कुंडलियां भाग 2
अर्चना की कुंडलियां भाग 2
Dr Archana Gupta
वायु प्रदूषण रहित बनाओ
वायु प्रदूषण रहित बनाओ
Buddha Prakash
ऐसे थे पापा मेरे ।
ऐसे थे पापा मेरे ।
Kuldeep mishra (KD)
दिल को दिल से खुशी होती है
दिल को दिल से खुशी होती है
shabina. Naaz
बहुत ऊँची नही होती है उड़ान दूसरों के आसमाँ की
बहुत ऊँची नही होती है उड़ान दूसरों के आसमाँ की
'अशांत' शेखर
अलविदा नहीं
अलविदा नहीं
Pratibha Pandey
और तो क्या ?
और तो क्या ?
gurudeenverma198
आपकी यादें
आपकी यादें
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
जिंदगी में सफ़ल होने से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि जिंदगी टेढ़े
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"पँछियोँ मेँ भी, अमिट है प्यार..!"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
सावन
सावन
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
यही बताती है रामायण
यही बताती है रामायण
*Author प्रणय प्रभात*
सावनी श्यामल घटाएं
सावनी श्यामल घटाएं
surenderpal vaidya
मुक्तक-
मुक्तक-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जगदाधार सत्य
जगदाधार सत्य
महेश चन्द्र त्रिपाठी
सच ज़िंदगी के रंगमंच के साथ हैं
सच ज़िंदगी के रंगमंच के साथ हैं
Neeraj Agarwal
घिरी घटा घन साँवरी, हुई दिवस में रैन।
घिरी घटा घन साँवरी, हुई दिवस में रैन।
डॉ.सीमा अग्रवाल
2832. *पूर्णिका*
2832. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
Phool gufran
"चुलबुला रोमित"
Dr Meenu Poonia
एक सपना
एक सपना
Punam Pande
मां ब्रह्मचारिणी
मां ब्रह्मचारिणी
Mukesh Kumar Sonkar
तेरा सहारा
तेरा सहारा
Er. Sanjay Shrivastava
Loading...