Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Nov 2022 · 1 min read

औलाद

मेरे आंखों के सपने
दिल के अरमान हो तुम
तुम से ही तो मैं हूं
मेरी पहचान हो तुम
मैं जमीन हूं अगर तो
तुम मेरे लहलहाते फसल हो
सच मानो तो मेरे लिए
सारा संसार हो तुम
अपने कांधे पर तुम्हें घुमाकर
ओ आनंद आता है
भर दिन की थकान
तेरी एक मुस्कुराहट से
मिनटों में समाप्त हो जाता है
तेरे दुखी होने पर
मेरे दिल पर पहाड़ टूट पड़ता हैं
खाना कितना भी स्वादिष्ट बना हों
सब बेकार लगता है
हर दिन में सोचता हूं
क्या खिलाऊं कहा पढ़ाऊं
क्या खरीदूं तेरे लिए
तू जानता नहीं तू जान है मेरे लिए

सुशील चौहान
फारबिसगंज अररिया बिहार

Language: Hindi
6 Likes · 2 Comments · 306 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मशक-पाद की फटी बिवाई में गयन्द कब सोता है ?
मशक-पाद की फटी बिवाई में गयन्द कब सोता है ?
महेश चन्द्र त्रिपाठी
कह दो ना उस मौत से अपने घर चली जाये,
कह दो ना उस मौत से अपने घर चली जाये,
Sarita Pandey
दूर तलक कोई नजर नहीं आया
दूर तलक कोई नजर नहीं आया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
मेरी हैसियत
मेरी हैसियत
आर एस आघात
2462.पूर्णिका
2462.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
■ सबको पता है...
■ सबको पता है...
*Author प्रणय प्रभात*
अर्ज किया है
अर्ज किया है
पूर्वार्थ
अन्तर्मन की विषम वेदना
अन्तर्मन की विषम वेदना
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
महाराष्ट्र की राजनीति
महाराष्ट्र की राजनीति
Anand Kumar
अनुशासित रहे, खुद पर नियंत्रण रखें ।
अनुशासित रहे, खुद पर नियंत्रण रखें ।
Shubham Pandey (S P)
क्या वायदे क्या इरादे ,
क्या वायदे क्या इरादे ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ताजन हजार
ताजन हजार
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
पीने -पिलाने की आदत तो डालो
सिद्धार्थ गोरखपुरी
प्रेम की कहानी
प्रेम की कहानी
Er. Sanjay Shrivastava
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
రామ భజే శ్రీ కృష్ణ భజే
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
मस्ती को क्या चाहिए ,मन के राजकुमार( कुंडलिया )
मस्ती को क्या चाहिए ,मन के राजकुमार( कुंडलिया )
Ravi Prakash
आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर
आजा मेरे दिल तू , मत जा मुझको छोड़कर
gurudeenverma198
मायूस ज़िंदगी
मायूस ज़िंदगी
Ram Babu Mandal
When the ways of this world are, but
When the ways of this world are, but
Dhriti Mishra
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
🥀 * गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 * गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Sannato me shor bhar de
Sannato me shor bhar de
Sakshi Tripathi
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
Paras Nath Jha
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक सच
एक सच
Neeraj Agarwal
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
"सबक"
Dr. Kishan tandon kranti
*** कभी-कभी.....!!! ***
*** कभी-कभी.....!!! ***
VEDANTA PATEL
मिटता नहीं है अंतर मरने के बाद भी,
मिटता नहीं है अंतर मरने के बाद भी,
Sanjay ' शून्य'
Loading...