Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Nov 2023 · 1 min read

और कितनें पन्ने गम के लिख रखे है साँवरे

और कितनें पन्ने गम के लिख रखे है साँवरे
ऐसा न हो खुशीयाँ आने से पहले जिंदगी रूठ जाये।।

1 Like · 81 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
!! उमंग !!
!! उमंग !!
Akash Yadav
अपने मन के भाव में।
अपने मन के भाव में।
Vedha Singh
अधीर मन खड़ा हुआ  कक्ष,
अधीर मन खड़ा हुआ कक्ष,
Nanki Patre
*मन राह निहारे हारा*
*मन राह निहारे हारा*
Poonam Matia
#कुछ खामियां
#कुछ खामियां
Amulyaa Ratan
मुहब्बत
मुहब्बत
Pratibha Pandey
हसरतें पाल लो, चाहे जितनी, कोई बंदिश थोड़े है,
हसरतें पाल लो, चाहे जितनी, कोई बंदिश थोड़े है,
Mahender Singh
कौन है जो तुम्हारी किस्मत में लिखी हुई है
कौन है जो तुम्हारी किस्मत में लिखी हुई है
कवि दीपक बवेजा
तथागत प्रीत तुम्हारी है
तथागत प्रीत तुम्हारी है
Buddha Prakash
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
वक्त हालत कुछ भी ठीक नहीं है अभी।
Manoj Mahato
भारत ने रचा इतिहास।
भारत ने रचा इतिहास।
Anil Mishra Prahari
.......... मैं चुप हूं......
.......... मैं चुप हूं......
Naushaba Suriya
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
प्रेम और दोस्ती में अंतर न समझाया जाए....
Keshav kishor Kumar
कहानी -
कहानी - "सच्चा भक्त"
Dr Tabassum Jahan
विद्यार्थी को तनाव थका देता है पढ़ाई नही थकाती
विद्यार्थी को तनाव थका देता है पढ़ाई नही थकाती
पूर्वार्थ
मैं तुम और हम
मैं तुम और हम
Ashwani Kumar Jaiswal
कोई नही है अंजान
कोई नही है अंजान
Basant Bhagawan Roy
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
* थके पथिक को *
* थके पथिक को *
surenderpal vaidya
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"लोग क्या कहेंगे" सोच कर हताश मत होइए,
Radhakishan R. Mundhra
मैं बदलना अगर नहीं चाहूँ
मैं बदलना अगर नहीं चाहूँ
Dr fauzia Naseem shad
खामोशियां मेरी आवाज है,
खामोशियां मेरी आवाज है,
Stuti tiwari
#आह्वान_तंत्र_का
#आह्वान_तंत्र_का
*Author प्रणय प्रभात*
तू मुझको संभालेगी क्या जिंदगी
तू मुझको संभालेगी क्या जिंदगी
कृष्णकांत गुर्जर
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
हर शेर हर ग़ज़ल पे है ऐसी छाप तेरी - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
2492.पूर्णिका
2492.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मौसम आया फाग का,
मौसम आया फाग का,
sushil sarna
क्या रखा है? वार में,
क्या रखा है? वार में,
Dushyant Kumar
"कैंसर की वैक्सीन"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...