Mar 30, 2020 · 2 min read

चीन का पाप कृत्य

आज के इस वैश्विक संकट में सभी देश चिंतित और भयभीत हैं और सब चीन को सन्देह की दृष्टि से देख रहे हैं । विभिन्न देशों का चीन के प्रति संदेहित होना अप्रत्याशित कतई नहीं कहा जा सकता । हिमगिरि के पार के इस देश को अनायास ही संदेहित नहीं किया गया है , इसके पार्श्व में सबके अपने तर्क हैं और इन्हें अनदेखा भी नहीं किया जा सकता । चीन में जब कोरोना वायरस प्रारंभिक अवस्था में था , चीन ने उसे छुपाया और जांच के नमूने को भी नष्ट किया । प्रकरण को सामने लाने वाले डॉक्टर और पत्रकार को चुप करवाया । जब दुनिया भर के देश इससे बुरी तरह जूझ रहे हैं , तब चीन के दूसरे प्रांत इससे अछूते कैसे रह गए । क्या यह चीन की पापमयी मंशा को इंगित नहीं करता । यह मानव से मानव में फैलता है , इस बात को प्रारंभ में छुपाया । WHO ने इसमें चीन का साथ क्यों दिया । क्या WHO और बीझिंग कोई व्यूह रचना कर रहे थे ।
वुहान से बिना किसी जांच के हजारों – हजार लोग विश्व के भिन्न-भिन्न देशों में कैसे चले गए । इटली ,स्पेन , जर्मनी ,फ्रांस
अमेरिका ,ब्रिटेन जब इस आपदा से बुरी तरह प्रभावित हैं ,तब
इसके केन्द्र रहे चीन को इससे मुक्ति की युक्ति कैसे सूझ गई ।
उसने दुनिया को इस विपत्ति से आगाह करके अपने उपाय को साझा क्यों नहीं किया । उसका यह कृत्य उसके पाप को ही उजागर करता है , तथा दुनिया के अन्यान्य राष्ट्रों में उसके प्रति संदेह को पुख़्ता करता है ।अब उसे दुनिया के देशों से अछूत होने का भय सता रहा है , इसलिए वह भारत के प्रयासों की सराहना कर उसका साथ चाहता है । लेकिन उसका यह पाप कृत्य सदैव अक्षम्य रहेगा ।

2 Likes · 3 Comments · 136 Views
You may also like:
तेरे दिल में कोई और है
Ram Krishan Rastogi
अत्याचार
AMRESH KUMAR VERMA
माँ गंगा
Anamika Singh
हम इतने भी बुरे नही,जितना लोगो ने बताया है
Ram Krishan Rastogi
काश मेरा बचपन फिर आता
Jyoti Khari
यूं रूबरू आओगे।
Taj Mohammad
आम ही आम है !
हरीश सुवासिया
प्रकृति और कोरोना की कहानी मेरी जुबानी
Anamika Singh
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
एक पिता की जान।
Taj Mohammad
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
गाँव री सौरभ
हरीश सुवासिया
पिता
Madhu Sethi
इंसानियत बनाती है
gurudeenverma198
""वक्त ""
Ray's Gupta
औरतें
Kanchan Khanna
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
आईना पर चन्द अश'आर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आसान नहीं हैं "माँ" बनना...
Dr. Alpa H.
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
All I want to say is good bye...
Abhineet Mittal
जिसके सीने में जिगर होता है।
Taj Mohammad
बद्दुआ।
Taj Mohammad
वैवाहिक वर्षगांठ मुक्तक
अभिनव मिश्र अदम्य
अथक प्रयत्न
Dr.sima
Accept the mistake
Buddha Prakash
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
चलो जिन्दगी को।
Taj Mohammad
Loading...