Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 30, 2020 · 2 min read

चीन का पाप कृत्य

आज के इस वैश्विक संकट में सभी देश चिंतित और भयभीत हैं और सब चीन को सन्देह की दृष्टि से देख रहे हैं । विभिन्न देशों का चीन के प्रति संदेहित होना अप्रत्याशित कतई नहीं कहा जा सकता । हिमगिरि के पार के इस देश को अनायास ही संदेहित नहीं किया गया है , इसके पार्श्व में सबके अपने तर्क हैं और इन्हें अनदेखा भी नहीं किया जा सकता । चीन में जब कोरोना वायरस प्रारंभिक अवस्था में था , चीन ने उसे छुपाया और जांच के नमूने को भी नष्ट किया । प्रकरण को सामने लाने वाले डॉक्टर और पत्रकार को चुप करवाया । जब दुनिया भर के देश इससे बुरी तरह जूझ रहे हैं , तब चीन के दूसरे प्रांत इससे अछूते कैसे रह गए । क्या यह चीन की पापमयी मंशा को इंगित नहीं करता । यह मानव से मानव में फैलता है , इस बात को प्रारंभ में छुपाया । WHO ने इसमें चीन का साथ क्यों दिया । क्या WHO और बीझिंग कोई व्यूह रचना कर रहे थे ।
वुहान से बिना किसी जांच के हजारों – हजार लोग विश्व के भिन्न-भिन्न देशों में कैसे चले गए । इटली ,स्पेन , जर्मनी ,फ्रांस
अमेरिका ,ब्रिटेन जब इस आपदा से बुरी तरह प्रभावित हैं ,तब
इसके केन्द्र रहे चीन को इससे मुक्ति की युक्ति कैसे सूझ गई ।
उसने दुनिया को इस विपत्ति से आगाह करके अपने उपाय को साझा क्यों नहीं किया । उसका यह कृत्य उसके पाप को ही उजागर करता है , तथा दुनिया के अन्यान्य राष्ट्रों में उसके प्रति संदेह को पुख़्ता करता है ।अब उसे दुनिया के देशों से अछूत होने का भय सता रहा है , इसलिए वह भारत के प्रयासों की सराहना कर उसका साथ चाहता है । लेकिन उसका यह पाप कृत्य सदैव अक्षम्य रहेगा ।

2 Likes · 3 Comments · 145 Views
You may also like:
चाय की चुस्की
श्री रमण
माँ
आकाश महेशपुरी
आओ तुम
sangeeta beniwal
गुनहगार बन गए है।
Taj Mohammad
आप ऐसा क्यों सोचते हो
gurudeenverma198
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
काँटों में खिलो फूल-सम, औ दिव्य ओज लो।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जीवन की सौगात "पापा"
Dr. Alpa H. Amin
जहां चाह वहां राह
ओनिका सेतिया 'अनु '
मुझको खुद मालूम नहीं
gurudeenverma198
गंगा से है प्रेमभाव गर
VINOD KUMAR CHAUHAN
सास और बहु
Vikas Sharma'Shivaaya'
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
Motivation ! Motivation ! Motivation !
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
I Can Cut All The Strings Attached
Manisha Manjari
अराजकता बंद करो ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
Oh dear... don't fear.
Taj Mohammad
"ईद"
Lohit Tamta
काश बचपन लौट आता
Anamika Singh
महफिल अफसूर्दा है।
Taj Mohammad
मां
हरीश सुवासिया
तुम...
Sapna K S
मनुआँ काला, भैंस-सा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण
🌷"फूलों की तरह जीना है"🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
अटल विश्वास दो
Saraswati Bajpai
✍️दम-भर ✍️
"अशांत" शेखर
"दोस्त"
Lohit Tamta
बहते हुए लहरों पे
Nitu Sah
Loading...