Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2023 · 1 min read

ऐ,चाँद चमकना छोड़ भी,तेरी चाँदनी मुझे बहुत सताती है,

ऐ,चाँद चमकना छोड़ भी,तेरी चाँदनी मुझे बहुत सताती है,
तेरे ही जैसा है मेरे महबूब का चेहरा,
तुझे देख उसकी बहुत याद आती है..❣️❣️❣️

विशाल बाबू ✍️✍️

397 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कहां जाऊं सत्य की खोज में।
कहां जाऊं सत्य की खोज में।
Taj Mohammad
* बताएं किस तरह तुमको *
* बताएं किस तरह तुमको *
surenderpal vaidya
*हम पर अत्याचार क्यों?*
*हम पर अत्याचार क्यों?*
Dushyant Kumar
मैं तो निकला था चाहतों का कारवां लेकर
मैं तो निकला था चाहतों का कारवां लेकर
VINOD CHAUHAN
मोहन कृष्ण मुरारी
मोहन कृष्ण मुरारी
Mamta Rani
मतदान करो
मतदान करो
TARAN VERMA
एक छोटी सी आश मेरे....!
एक छोटी सी आश मेरे....!
VEDANTA PATEL
हम अपनों से न करें उम्मीद ,
हम अपनों से न करें उम्मीद ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
विश्वास
विश्वास
Dr. Pradeep Kumar Sharma
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
परफेक्ट बनने के लिए सबसे पहले खुद में झांकना पड़ता है, स्वयं
Seema gupta,Alwar
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
Subhash Singhai
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ग़ज़ल की ये क़िताब,
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ग़ज़ल की ये क़िताब,
Sahil Ahmad
#दोहा
#दोहा
*प्रणय प्रभात*
यह दुनिया भी बदल डालें
यह दुनिया भी बदल डालें
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी कभी रुकती नहीं, वो तो
जिंदगी कभी रुकती नहीं, वो तो
Befikr Lafz
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Dr Archana Gupta
कहां गए बचपन के वो दिन
कहां गए बचपन के वो दिन
Yogendra Chaturwedi
ता थैया थैया थैया थैया,
ता थैया थैया थैया थैया,
Satish Srijan
ये दिन है भारत को विश्वगुरु होने का,
ये दिन है भारत को विश्वगुरु होने का,
शिव प्रताप लोधी
*जागा भारत चल पड़ा, स्वाभिमान की ओर (कुंडलिया)*
*जागा भारत चल पड़ा, स्वाभिमान की ओर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मुखौटा!
मुखौटा!
कविता झा ‘गीत’
बेटियां
बेटियां
Nanki Patre
सत्य से सबका परिचय कराएं आओ कुछ ऐसा करें
सत्य से सबका परिचय कराएं आओ कुछ ऐसा करें
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
3237.*पूर्णिका*
3237.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
इक क़तरा की आस है
इक क़तरा की आस है
kumar Deepak "Mani"
भुला ना सका
भुला ना सका
Dr. Mulla Adam Ali
समय के साथ ही हम है
समय के साथ ही हम है
Neeraj Agarwal
लक्ष्य
लक्ष्य
Suraj Mehra
सागर
सागर
नूरफातिमा खातून नूरी
"अभ्यास"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...