Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Mar 2017 · 1 min read

एम.ए.पास न होता (गीत)

दिन भर करता काम-काज
मैं, रात नींद भर सोता ।
कितना अच्छा होता जो मैं
एम.ए. पास न होता ।।

गांव छोड़कर क्यों मैं रहता
इस शहरी माहौल में ?
क्यों आगे मैं करता खुद को
रोज़गार की दौड़ में. ?
नेताओं के पीछे लगकर
क्यों ईमान को खोता. ?

बड़े भोर उठकर के मैं तो
जाता अपने खेत पर ।
रोटी रख देती फिर माता
सब्जी, चटनी, प्यार भर ।
प्यार भरी वह रोटी खाकर
खेत में गेहूं बोता ।।

श्रमबिंदु लेकर माथे पर
वापस आता शाम को ।
माता के दर्शन से मित्रो
पा जाता आराम को ।
मातृस्पर्श की मृदु-छाया में
सदा प्रफुल्लित होता ।

कितना अच्छा होता जो मैं
एम. ए. पास न होता ।।

ईश्वर दयाल गोस्वामी ।
कवि एवं शिक्षक ।
” यह गीत मैंने अपने विद्यार्थी जीवन में रचा था ।”

Language: Hindi
Tag: गीत
3 Likes · 2 Comments · 788 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सम्भल कर चलना जिंदगी के सफर में....
सम्भल कर चलना जिंदगी के सफर में....
shabina. Naaz
एहसास
एहसास
Vandna thakur
अब किसका है तुमको इंतजार
अब किसका है तुमको इंतजार
gurudeenverma198
दिनकर तुम शांत हो
दिनकर तुम शांत हो
भरत कुमार सोलंकी
समाज को जगाने का काम करते रहो,
समाज को जगाने का काम करते रहो,
नेताम आर सी
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
Anil Mishra Prahari
*जाते देखो भक्तजन, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
*जाते देखो भक्तजन, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
शहीद रामफल मंडल गाथा।
शहीद रामफल मंडल गाथा।
Acharya Rama Nand Mandal
हंसगति
हंसगति
डॉ.सीमा अग्रवाल
कुंडलिया - रंग
कुंडलिया - रंग
sushil sarna
पिटूनिया
पिटूनिया
अनिल मिश्र
जीवन का मुस्कान
जीवन का मुस्कान
Awadhesh Kumar Singh
हर चढ़ते सूरज की शाम है,
हर चढ़ते सूरज की शाम है,
Lakhan Yadav
विकास का ढिंढोरा पीटने वाले ,
विकास का ढिंढोरा पीटने वाले ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
"मेरे हमसफर"
Ekta chitrangini
जो बीत गया उसे जाने दो
जो बीत गया उसे जाने दो
अनूप अम्बर
बचकानी बातें करने वाले बुज़ुर्गों की इमेज उन छोरों ज
बचकानी बातें करने वाले बुज़ुर्गों की इमेज उन छोरों ज
*प्रणय प्रभात*
मेरे सजदे
मेरे सजदे
Dr fauzia Naseem shad
*जुदाई न मिले किसी को*
*जुदाई न मिले किसी को*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बेटा
बेटा
Neeraj Agarwal
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
" मृत्यु "
Dr. Kishan tandon kranti
जब उम्र कुछ कर गुजरने की होती है
जब उम्र कुछ कर गुजरने की होती है
Harminder Kaur
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ये गजल बेदर्द,
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं ये गजल बेदर्द,
Sahil Ahmad
कैसा
कैसा
Ajay Mishra
****🙏🏻आह्वान🙏🏻****
****🙏🏻आह्वान🙏🏻****
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
दिल से ….
दिल से ….
Rekha Drolia
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
ज़िंदगी इतनी मुश्किल भी नहीं
Dheerja Sharma
गम के बगैर
गम के बगैर
Swami Ganganiya
Loading...