Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Mar 2024 · 1 min read

एक मुस्कान के साथ फूल ले आते हो तुम,

एक मुस्कान के साथ फूल ले आते हो तुम,
हर दिन दिल गवा बैठ रहे हैं हम।
–kanchan

1 Like · 40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Kanchan Alok Malu
View all
You may also like:
प्यार क्या है
प्यार क्या है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पैमाना सत्य का होता है यारों
पैमाना सत्य का होता है यारों
प्रेमदास वसु सुरेखा
मेरा भारत
मेरा भारत
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
प्रकृति के स्वरूप
प्रकृति के स्वरूप
डॉ० रोहित कौशिक
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चाँद और इन्सान
चाँद और इन्सान
Kanchan Khanna
पापा की गुड़िया
पापा की गुड़िया
Dr Parveen Thakur
मोबाइल
मोबाइल
लक्ष्मी सिंह
ग़ज़ल/नज़्म - फितरत-ए-इंसा...आज़ कोई सामान बिक गया नाम बन के
ग़ज़ल/नज़्म - फितरत-ए-इंसा...आज़ कोई सामान बिक गया नाम बन के
अनिल कुमार
मुक्तक -
मुक्तक -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
23/215. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/215. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
।। अछूत ।।
।। अछूत ।।
साहित्य गौरव
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
प्रकृति से हमें जो भी मिला है हमनें पूजा है
प्रकृति से हमें जो भी मिला है हमनें पूजा है
Sonam Puneet Dubey
हुनर है झुकने का जिसमें दरक नहीं पाता
हुनर है झुकने का जिसमें दरक नहीं पाता
Anis Shah
*ओ मच्छर ओ मक्खी कब, छोड़ोगे जान हमारी【 हास्य गीत】*
*ओ मच्छर ओ मक्खी कब, छोड़ोगे जान हमारी【 हास्य गीत】*
Ravi Prakash
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
नैन मटकका और कहीं मिलना जुलना और कहीं
Dushyant Kumar Patel
बताइए
बताइए
Dr. Kishan tandon kranti
प्रेम भाव रक्षित रखो,कोई भी हो तव धर्म।
प्रेम भाव रक्षित रखो,कोई भी हो तव धर्म।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
भगवान कहाँ है तू?
भगवान कहाँ है तू?
Bodhisatva kastooriya
मंत्र: पिडजप्रवरारूढा, चंडकोपास्त्रकैर्युता।
मंत्र: पिडजप्रवरारूढा, चंडकोपास्त्रकैर्युता।
Harminder Kaur
गीत रीते वादों का .....
गीत रीते वादों का .....
sushil sarna
कल शाम में बारिश हुई,थोड़ी ताप में कमी आई
कल शाम में बारिश हुई,थोड़ी ताप में कमी आई
Keshav kishor Kumar
कोई मिले जो  गले लगा ले
कोई मिले जो गले लगा ले
दुष्यन्त 'बाबा'
........,?
........,?
शेखर सिंह
सहारा
सहारा
Neeraj Agarwal
बहुत कुछ पढ़ लिया तो क्या ऋचाएं पढ़ के देखो।
बहुत कुछ पढ़ लिया तो क्या ऋचाएं पढ़ के देखो।
सत्य कुमार प्रेमी
ईश्वर
ईश्वर
Shyam Sundar Subramanian
दिल तसल्ली को
दिल तसल्ली को
Dr fauzia Naseem shad
प्रेम उतना ही करो
प्रेम उतना ही करो
पूर्वार्थ
Loading...