Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2022 · 2 min read

एक प्रश्न

एक प्रश्न- कोमल काव्या
मैं तो रातों को जागना छोड़ भी दूँ लेकिन
तुम मेरी यादों मे आना छोड़ दोगे क्या ?
ये मैंने कब कहा की मेरी ज़िंदगी का हिस्सा हो तुम
वो जो सिंडरेला की कहानी मे था न एक राजकुमार
बस कुछ वैसा ही तो किस्सा हो तुम
मैं बहार नहीं न बरखा हूँ बस एक बूंद हूँ शबनम की
बेनाम अनजान हैरान उपज हूँ एक अलग मौसम की
जो कर दूँ इजहारे मोहब्बत
तो इस कहानी को नया मोड दोगे क्या ?
मैं तो रातों को जागना छोड़ भी दूँ लेकिन
तुम मेरी यादों मे आना छोड़ दोगे क्या ?
अच्छा चलो , करती हूँ तुमसे एक वादा
तुम्हारा खयाल भी अपपने खयालों मे नहीं लाऊँगी
न तुमसे मिलने आऊँगी न तुम्हें मिलने बुलाऊँगी
वो खत भी जला डालूँगी सारे
जिन्हे अब तक भेजा नहीं मैंने
वो संदेश भी मिटा डालूँगी तुम्हारे
जिन्हे अब तक सहेज कर रखा है मैंने
पर एक बात का वादा तुम भी तो कर लो मुझसे
की वो जो टूटा टूटा स है मेरे अंदर
उसे बाहर लाकर तरतीब से जोड़ दोगे क्या ?
मैं तो रातों को जागना छोड़ भी दूँ लेकिन
तुम मेरी यादों मे आना छोड़ दोगे क्या ?
ये मेरे कानों मे क्या बुदबुदा रहे हो तुम
कभी दूर जाकर कभी पास आकर मुझे क्यूँ सता रहे हो तुम
छुपा कर रखा है अब तक तुम्हारा नाम जमाने से
शायद मुझे भी भ्रम है की सपना पूरा नहीं होता बताने से
मेरी साँसों के टूटते लम्हों मे
मेरा ये आखरी भरम तोड़ दोगे क्या ?
मैं तो रातों को जागना छोड़ भी दूँ लेकिन
तुम मेरी यादों मे आना छोड़ दोगे क्या ?

Language: Hindi
280 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अकेला हूँ ?
अकेला हूँ ?
Surya Barman
बह्र ....2122  2122  2122  212
बह्र ....2122 2122 2122 212
Neelofar Khan
देख तुझको यूँ निगाहों का चुराना मेरा - मीनाक्षी मासूम
देख तुझको यूँ निगाहों का चुराना मेरा - मीनाक्षी मासूम
Meenakshi Masoom
3509.🌷 *पूर्णिका* 🌷
3509.🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
नेता के बोल
नेता के बोल
Aman Sinha
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
Kanchan Khanna
यदि कोई देश अपनी किताबों में वो खुशबू पैदा कर दे  जिससे हर य
यदि कोई देश अपनी किताबों में वो खुशबू पैदा कर दे जिससे हर य
RAMESH Kumar
“ इन लोगों की बात सुनो”
“ इन लोगों की बात सुनो”
DrLakshman Jha Parimal
Ice
Ice
Santosh kumar Miri
*** होली को होली रहने दो ***
*** होली को होली रहने दो ***
Chunnu Lal Gupta
अमीरों का देश
अमीरों का देश
Ram Babu Mandal
यारो हम तो आज भी
यारो हम तो आज भी
Sunil Maheshwari
आज की नारी
आज की नारी
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
संसार में मनुष्य ही एक मात्र,
संसार में मनुष्य ही एक मात्र,
नेताम आर सी
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
*मनु-शतरूपा ने वर पाया (चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
ग़ज़ल की नक़ल नहीं है तेवरी + रमेशराज
ग़ज़ल की नक़ल नहीं है तेवरी + रमेशराज
कवि रमेशराज
गुमनाम ज़िन्दगी
गुमनाम ज़िन्दगी
Santosh Shrivastava
THE GREY GODDESS!
THE GREY GODDESS!
Dhriti Mishra
प्रीत प्रेम की
प्रीत प्रेम की
Monika Yadav (Rachina)
ज़िंदगी हमें हर पल सबक नए सिखाती है
ज़िंदगी हमें हर पल सबक नए सिखाती है
Sonam Puneet Dubey
प्रायश्चित
प्रायश्चित
Shyam Sundar Subramanian
"यदि"
Dr. Kishan tandon kranti
सन्यासी का सच तप
सन्यासी का सच तप
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नारी शिक्षा से कांपता धर्म
नारी शिक्षा से कांपता धर्म
Shekhar Chandra Mitra
आजादी की कहानी
आजादी की कहानी
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
झुलस
झुलस
Dr.Pratibha Prakash
मेरा दुश्मन
मेरा दुश्मन
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
माँ
माँ
SHAMA PARVEEN
हिंदी
हिंदी
Mamta Rani
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
Loading...