Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2024 · 1 min read

वक्त

एक दूरी हैं जो खत्म नहीं हो रही,
एक उलझन है जो बढ़ रही है।
एक दिल है जो समझ नही रहा,
एक वक्त है जो बदल ही नहीं रहा।

24 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
গাছের নীরবতা
গাছের নীরবতা
Otteri Selvakumar
तेरी ख़ामोशी
तेरी ख़ामोशी
Anju ( Ojhal )
नव वर्ष हमारे आए हैं
नव वर्ष हमारे आए हैं
Er.Navaneet R Shandily
*अभी भी शादियों में खर्च, सबकी प्राथमिकता है (मुक्तक)*
*अभी भी शादियों में खर्च, सबकी प्राथमिकता है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
तीन स्थितियाँ [कथाकार-कवि उदयप्रकाश की एक कविता से प्रेरित] / MUSAFIR BAITHA
तीन स्थितियाँ [कथाकार-कवि उदयप्रकाश की एक कविता से प्रेरित] / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कठिन परिश्रम साध्य है, यही हर्ष आधार।
कठिन परिश्रम साध्य है, यही हर्ष आधार।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
gurudeenverma198
"ख़ूबसूरत आँखे"
Ekta chitrangini
बाढ़
बाढ़
Dr.Pratibha Prakash
कितना और सहे नारी ?
कितना और सहे नारी ?
Mukta Rashmi
दास्तान-ए- वेलेंटाइन
दास्तान-ए- वेलेंटाइन
Dr. Mahesh Kumawat
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
Subhash Singhai
2555.पूर्णिका
2555.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
3-फ़क़त है सियासत हक़ीक़त नहीं है
3-फ़क़त है सियासत हक़ीक़त नहीं है
Ajay Kumar Vimal
अधरों ने की  दिल्लगी, अधरों  से  कल  रात ।
अधरों ने की दिल्लगी, अधरों से कल रात ।
sushil sarna
#शेर-
#शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
वो आए और देखकर मुस्कुराने लगे
वो आए और देखकर मुस्कुराने लगे
Surinder blackpen
सीपी में रेत के भावुक कणों ने प्रवेश किया
सीपी में रेत के भावुक कणों ने प्रवेश किया
ruby kumari
राखी की सौगंध
राखी की सौगंध
Dr. Pradeep Kumar Sharma
"मोल"
Dr. Kishan tandon kranti
याद
याद
Kanchan Khanna
जितने चंचल है कान्हा
जितने चंचल है कान्हा
Harminder Kaur
आपकी सोच
आपकी सोच
Dr fauzia Naseem shad
अगर किसी के पास रहना है
अगर किसी के पास रहना है
शेखर सिंह
सूरज की किरणों
सूरज की किरणों
Sidhartha Mishra
मां - स्नेहपुष्प
मां - स्नेहपुष्प
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
“एक नई सुबह आयेगी”
“एक नई सुबह आयेगी”
पंकज कुमार कर्ण
हृदय परिवर्तन
हृदय परिवर्तन
Awadhesh Singh
हौसला
हौसला
Shyam Sundar Subramanian
ये प्यार की है बातें, सुनलों जरा सुनाउँ !
ये प्यार की है बातें, सुनलों जरा सुनाउँ !
DrLakshman Jha Parimal
Loading...