Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

एक दिन में तो कुछ नहीं होता

एक दिन में तो कुछ नहीं होता
वक़्त लगता है खुद को भी बनाने में .. .shabinaZ

430 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from shabina. Naaz
View all
You may also like:
हक़ीक़त ने
हक़ीक़त ने
Dr fauzia Naseem shad
Ek jindagi ke sapne hajar,
Ek jindagi ke sapne hajar,
Sakshi Tripathi
तुम याद आये !
तुम याद आये !
Ramswaroop Dinkar
अति वृष्टि
अति वृष्टि
लक्ष्मी सिंह
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
Keshav kishor Kumar
आम्बेडकर ने पहली बार
आम्बेडकर ने पहली बार
Dr MusafiR BaithA
मोहब्बत के लिए गुलकारियां दोनों तरफ से है। झगड़ने को मगर तैयारियां दोनों तरफ से। ❤️ नुमाइश के लिए अब गुफ्तगू होती है मिलने पर। मगर अंदर से तो बेजारियां दोनो तरफ से हैं। ❤️
मोहब्बत के लिए गुलकारियां दोनों तरफ से है। झगड़ने को मगर तैयारियां दोनों तरफ से। ❤️ नुमाइश के लिए अब गुफ्तगू होती है मिलने पर। मगर अंदर से तो बेजारियां दोनो तरफ से हैं। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
शायरी
शायरी
डॉ मनीष सिंह राजवंशी
मौसम आया फाग का,
मौसम आया फाग का,
sushil sarna
स्त्री चेतन
स्त्री चेतन
Astuti Kumari
Struggle to conserve natural resources
Struggle to conserve natural resources
Desert fellow Rakesh
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
Shashi kala vyas
प्राचीन दोस्त- निंब
प्राचीन दोस्त- निंब
दिनेश एल० "जैहिंद"
सब्र की मत छोड़ना पतवार।
सब्र की मत छोड़ना पतवार।
Anil Mishra Prahari
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelam Sharma
मुझे अधूरा ही रहने दो....
मुझे अधूरा ही रहने दो....
Santosh Soni
मदमती
मदमती
Pratibha Pandey
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
■ कोई तो बताओ यार...?
■ कोई तो बताओ यार...?
*Author प्रणय प्रभात*
सरस्वती वंदना-5
सरस्वती वंदना-5
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
फलसफ़ा
फलसफ़ा
Atul "Krishn"
" बंध खोले जाए मौसम "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
*चाँदी को मत मानिए, कभी स्वर्ण से हीन ( कुंडलिया )*
*चाँदी को मत मानिए, कभी स्वर्ण से हीन ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
रेल यात्रा संस्मरण
रेल यात्रा संस्मरण
Prakash Chandra
2949.*पूर्णिका*
2949.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
भर मुझको भुजपाश में, भुला गई हर राह ।
भर मुझको भुजपाश में, भुला गई हर राह ।
Arvind trivedi
"सुन लो"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन की धूल ..
जीवन की धूल ..
Shubham Pandey (S P)
संदेश
संदेश
Shyam Sundar Subramanian
Loading...