Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Sep 2022 · 1 min read

एक ज़िंदा मौत

अपनी ख़ुदी से समझौता
कम नहीं खुदकुशी से!
कहीं रुसवा न हो जवानी
तुम्हारी बुजदिली से!!
मालूम है भगतसिंह ने
क्या कहा था फांसी से!
एक ज़िंदा मौत बेहतर है
एक मूर्दा ज़िंदगी से!!
#इंकलाब #बग़ावत #revolution
#Liberty #Rights #Equality
#क्रांति #BhagatSingh
#freedom #Rebel #विद्रोही

Language: Hindi
1 Like · 188 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम और बिंदी
तुम और बिंदी
Awadhesh Singh
बारह ज्योतिर्लिंग
बारह ज्योतिर्लिंग
सत्य कुमार प्रेमी
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
गुमनाम 'बाबा'
Dear myself,
Dear myself,
पूर्वार्थ
सरस्वती वंदना
सरस्वती वंदना
Kumud Srivastava
HAPPINESS!
HAPPINESS!
R. H. SRIDEVI
कुछ अलग ही प्रेम था,हम दोनों के बीच में
कुछ अलग ही प्रेम था,हम दोनों के बीच में
Dr Manju Saini
सत्य शुरू से अंत तक
सत्य शुरू से अंत तक
विजय कुमार अग्रवाल
चिंता
चिंता
RAKESH RAKESH
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
कवि दीपक बवेजा
देखा तुम्हें सामने
देखा तुम्हें सामने
Harminder Kaur
अधूरी तमन्ना (कविता)
अधूरी तमन्ना (कविता)
Monika Yadav (Rachina)
जुबान
जुबान
अखिलेश 'अखिल'
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
बदचलन (हिंदी उपन्यास)
Shwet Kumar Sinha
नन्ही
नन्ही
*प्रणय प्रभात*
अब कहां लौटते हैं नादान परिंदे अपने घर को,
अब कहां लौटते हैं नादान परिंदे अपने घर को,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2514.पूर्णिका
2514.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बात पते की कहती नानी।
बात पते की कहती नानी।
Vedha Singh
"पर्दा"
Dr. Kishan tandon kranti
बदनाम शराब
बदनाम शराब
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
गुरु दीक्षा
गुरु दीक्षा
GOVIND UIKEY
*ऋषि (बाल कविता)*
*ऋषि (बाल कविता)*
Ravi Prakash
चंद तारे
चंद तारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कोहरा काला घना छट जाएगा।
कोहरा काला घना छट जाएगा।
Neelam Sharma
निर्णय लेने में
निर्णय लेने में
Dr fauzia Naseem shad
राम का राज्याभिषेक
राम का राज्याभिषेक
Paras Nath Jha
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हमें दुख देकर खुश हुए थे आप
हमें दुख देकर खुश हुए थे आप
ruby kumari
# कुछ देर तो ठहर जाओ
# कुछ देर तो ठहर जाओ
Koमल कुmari
डबूले वाली चाय
डबूले वाली चाय
Shyam Sundar Subramanian
Loading...