Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Nov 2022 · 1 min read

एक ज़िंदा मुल्क

जुल्मतों के दौर में ही
कोई कौम उभरती है!
शोलों से गुजरकर ही
नई नस्ल संवरती है!!
गर्दिश-ए-अय्याम की
ठोकरें खा-खाकर ही!
एक ज़िंदा मुल्क की
तस्वीर निखरती है!!
Shekhar Chandra Mitra
#नौजवान #युवा #बुद्धिजीवी #प्रबुद्ध
#politics #media #लेखक #विद्रोही
#शायर #बहुजन #कवि #दलित #पिछड़ा
#आदिवासी #छात्र #विद्यार्थी #students

Language: Hindi
1 Like · 136 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"ऐसा वक्त आएगा"
Dr. Kishan tandon kranti
किसी महिला का बार बार आपको देखकर मुस्कुराने के तीन कारण हो स
किसी महिला का बार बार आपको देखकर मुस्कुराने के तीन कारण हो स
Rj Anand Prajapati
आपको देखते ही मेरे निगाहें आप पर आके थम जाते हैं
आपको देखते ही मेरे निगाहें आप पर आके थम जाते हैं
Sukoon
तुमसे मैं एक बात कहूँ
तुमसे मैं एक बात कहूँ
gurudeenverma198
If you want to be in my life, I have to give you two news...
If you want to be in my life, I have to give you two news...
पूर्वार्थ
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Rap song 【4】 - पटना तुम घुमाया
Nishant prakhar
*अमर रहेंगे वीर लाजपत राय श्रेष्ठ बलिदानी (गीत)*
*अमर रहेंगे वीर लाजपत राय श्रेष्ठ बलिदानी (गीत)*
Ravi Prakash
जमाने के रंगों में मैं अब यूॅ॑ ढ़लने लगा हूॅ॑
जमाने के रंगों में मैं अब यूॅ॑ ढ़लने लगा हूॅ॑
VINOD CHAUHAN
💐प्रेम कौतुक-475💐
💐प्रेम कौतुक-475💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जब कभी उनका ध्यान, मेरी दी हुई ring पर जाता होगा
जब कभी उनका ध्यान, मेरी दी हुई ring पर जाता होगा
The_dk_poetry
सरेआम जब कभी मसअलों की बात आई
सरेआम जब कभी मसअलों की बात आई
Maroof aalam
हरा न पाये दौड़कर,
हरा न पाये दौड़कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
फल आयुष्य
फल आयुष्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
Dr. Vaishali Verma
1. चाय
1. चाय
Rajeev Dutta
फूल और कांटे
फूल और कांटे
अखिलेश 'अखिल'
*
*"कार्तिक मास"*
Shashi kala vyas
सच तो फूल होते हैं।
सच तो फूल होते हैं।
Neeraj Agarwal
अगर सड़क पर कंकड़ ही कंकड़ हों तो उस पर चला जा सकता है, मगर
अगर सड़क पर कंकड़ ही कंकड़ हों तो उस पर चला जा सकता है, मगर
लोकेश शर्मा 'अवस्थी'
****शिव शंकर****
****शिव शंकर****
Kavita Chouhan
सुखी होने में,
सुखी होने में,
Sangeeta Beniwal
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*Author प्रणय प्रभात*
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
बौराये-से फूल /
बौराये-से फूल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Who's Abhishek yadav bojha
Who's Abhishek yadav bojha
Abhishek Yadav
हरे भरे खेत
हरे भरे खेत
जगदीश लववंशी
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
2946.*पूर्णिका*
2946.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बादल
बादल
Shankar suman
Loading...