Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 18, 2022 · 1 min read

एकाकीपन

एकाकीपन

मैं और मेरा एकाकीपन
सूना सूना सा जीवन
बींध जाती अंतर्मन
नीरवता की वो चुभन

मौन का है हाहाकार
चुप्पी काँधे पर सवार
खामोशी का अंधकार
कौन बोले अबकी बार

श्वास में उच्छ्वास में
टिकी हर आस में
उर के विश्वास में
आओगे तुम पास में

मुखरित होगा सूनापन
छलक उठेंगे आद्र नयन
अधरों पर होगी कम्पन
मूक फिर भी है वचन

स्वरहीन प्रेम भरमाया
निस्पंद हो गई काया
मौन तू सुन न पाया
बोलना मुझे न आया

रेखांकन।रेखा

3 Likes · 4 Comments · 62 Views
You may also like:
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
मंजिल की तलाश
AMRESH KUMAR VERMA
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
!?! सावधान कोरोना स्लोगन !?!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जल है जीवन में आधार
Mahender Singh Hans
✍️प्रकृति के नियम✍️
"अशांत" शेखर
हैं पिता, जिनकी धरा पर, पुत्र वह, धनवान जग में।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मत भूलो देशवासियों.!
Prabhudayal Raniwal
माँ दुर्गे!
Anamika Singh
पुनर्पाठ : एक वर्षगाँठ
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
भारतवर्ष
Utsav Kumar Aarya
इन ख़यालों के परिंदों को चुगाने कब से
Anis Shah
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सफर
Anamika Singh
पुकार सुन लो
वीर कुमार जैन 'अकेला'
सच में ईश्वर लगते पिता हमारें।।
Taj Mohammad
ईश्वर की जयघोश
AMRESH KUMAR VERMA
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
'पिता' संग बांटो बेहद प्यार....
Dr. Alpa H. Amin
मेरे कच्चे मकान की खपरैल
Umesh Kumar Sharma
ये दूरियां मिटा दो ना
Nitu Sah
इश्क़―की―आग
N.ksahu0007@writer
✍️✍️जूनून में आग✍️✍️
"अशांत" शेखर
सबको हार्दिक शुभकामनाएं !
Prabhudayal Raniwal
मिटटी
Vikas Sharma'Shivaaya'
ढाई आखर प्रेम का
श्री रमण
एक तोला स्त्री
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
💐💐प्रेम की राह पर-16💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...