Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Nov 2022 · 1 min read

एकता

न ही तो मैं हिंदू हूं,
न हूं मुसलमान।
मैं तो तेरे जैसा ही,
हूं एक इंसान।
:–आदित्य राज

Language: Hindi
Tag: शेर
3 Likes · 242 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
ଅହଙ୍କାର
ଅହଙ୍କାର
Bidyadhar Mantry
दोहा छन्द
दोहा छन्द
नाथ सोनांचली
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
महामहिम राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जी
Seema gupta,Alwar
National Symbols of India
National Symbols of India
VINOD CHAUHAN
*मै भारत देश आजाद हां*
*मै भारत देश आजाद हां*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
15. गिरेबान
15. गिरेबान
Rajeev Dutta
कविता
कविता
Rambali Mishra
3100.*पूर्णिका*
3100.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
नव वर्ष गीत
नव वर्ष गीत
Dr. Rajeev Jain
कम साधन में साधते, बड़े-बड़े जो काज।
कम साधन में साधते, बड़े-बड़े जो काज।
डॉ.सीमा अग्रवाल
*कुकर्मी पुजारी*
*कुकर्मी पुजारी*
Dushyant Kumar
"कोरा कागज"
Dr. Kishan tandon kranti
ताकि वो शान्ति से जी सके
ताकि वो शान्ति से जी सके
gurudeenverma198
अब युद्ध भी मेरा, विजय भी मेरी, निर्बलताओं को जयघोष सुनाना था।
अब युद्ध भी मेरा, विजय भी मेरी, निर्बलताओं को जयघोष सुनाना था।
Manisha Manjari
*देव हमें दो शक्ति नहीं ज्वर, हमें हराने पाऍं (हिंदी गजल)*
*देव हमें दो शक्ति नहीं ज्वर, हमें हराने पाऍं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
चांद-तारे तोड के ला दूं मैं
चांद-तारे तोड के ला दूं मैं
Swami Ganganiya
उम्र अपना निशान
उम्र अपना निशान
Dr fauzia Naseem shad
कुछ तो पोशीदा दिल का हाल रहे
कुछ तो पोशीदा दिल का हाल रहे
Shweta Soni
आईना बोला मुझसे
आईना बोला मुझसे
Kanchan Advaita
गौर किया जब तक
गौर किया जब तक
Koमल कुmari
कभी नजरें मिलाते हैं कभी नजरें चुराते हैं।
कभी नजरें मिलाते हैं कभी नजरें चुराते हैं।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
मुझे तुमसे प्यार हो गया,
मुझे तुमसे प्यार हो गया,
Dr. Man Mohan Krishna
मेरे नयनों में जल है।
मेरे नयनों में जल है।
Kumar Kalhans
अर्ज किया है
अर्ज किया है
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
“कब मानव कवि बन जाता हैं ”
“कब मानव कवि बन जाता हैं ”
Rituraj shivem verma
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
प्रायश्चित
प्रायश्चित
Shyam Sundar Subramanian
छप्पर की कुटिया बस मकान बन गई, बोल, चाल, भाषा की वही रवानी है
छप्पर की कुटिया बस मकान बन गई, बोल, चाल, भाषा की वही रवानी है
Anand Kumar
Loading...