Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Jul 2023 · 1 min read

उम्मीद

उम्मीद ही अगर मर जाय तो आदमी का हताश होना निश्चित है।

Paras Nath Jha

150 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Paras Nath Jha
View all
You may also like:
सुन सको तो सुन लो
सुन सको तो सुन लो
Shekhar Chandra Mitra
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
अपनों का साथ भी बड़ा विचित्र हैं,
Umender kumar
" आज चाँदनी मुस्काई "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
पिया-मिलन
पिया-मिलन
Kanchan Khanna
ये आँखों से बहते अश्क़
ये आँखों से बहते अश्क़
'अशांत' शेखर
■ लघुकथा / लेखिका
■ लघुकथा / लेखिका
*Author प्रणय प्रभात*
ख़ामोशी है चेहरे पर लेकिन
ख़ामोशी है चेहरे पर लेकिन
पूर्वार्थ
ज़िंदगी मौत पर
ज़िंदगी मौत पर
Dr fauzia Naseem shad
अलगाव
अलगाव
अखिलेश 'अखिल'
क्या देखा है मैंने तुझमें?....
क्या देखा है मैंने तुझमें?....
Amit Pathak
मंजिल यू‌ँ ही नहीं मिल जाती,
मंजिल यू‌ँ ही नहीं मिल जाती,
Yogendra Chaturwedi
क्या? किसी का भी सगा, कभी हुआ ज़माना है।
क्या? किसी का भी सगा, कभी हुआ ज़माना है।
Neelam Sharma
पवन वसंती झूम रही है
पवन वसंती झूम रही है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
स्वप्न ....
स्वप्न ....
sushil sarna
रुचि पूर्ण कार्य
रुचि पूर्ण कार्य
लक्ष्मी सिंह
सफलता
सफलता
Ankita Patel
मन को भाये इमली. खट्टा मीठा डकार आये
मन को भाये इमली. खट्टा मीठा डकार आये
Ranjeet kumar patre
नया एक रिश्ता पैदा क्यों करें हम
नया एक रिश्ता पैदा क्यों करें हम
Shakil Alam
राम की धुन
राम की धुन
Ghanshyam Poddar
तारों का झूमर
तारों का झूमर
Dr. Seema Varma
*गूगल को गुरु मानिए, इसका ज्ञान अथाह (कुंडलिया)*
*गूगल को गुरु मानिए, इसका ज्ञान अथाह (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मन मेरा गाँव गाँव न होना मुझे शहर
मन मेरा गाँव गाँव न होना मुझे शहर
Rekha Drolia
कुदरत
कुदरत
manisha
चातक तो कहता रहा, बस अम्बर से आस।
चातक तो कहता रहा, बस अम्बर से आस।
Suryakant Dwivedi
समय ⏳🕛⏱️
समय ⏳🕛⏱️
डॉ० रोहित कौशिक
हम वीर हैं उस धारा के,
हम वीर हैं उस धारा के,
$úDhÁ MãÚ₹Yá
दो सहोदर
दो सहोदर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
जिंदगी क्या है?
जिंदगी क्या है?
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
दस्तूर ए जिंदगी
दस्तूर ए जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...