Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

उनसे हमारी मुलाक़ात न हो !

उनसे हमारी मुलाक़ात न हो !
कह कर मुकर जाये वो बात न हो !!

साथ रहकर भी तेरे साथ न था ,
उस रात के जैसी अब रात न हो !!

मिलने को तो मै मिल लू तुमसे ,
पर पहले जैसा विश्वासघात न हो !!

तू कहती है तो मान लेता हू ,
आँखों से रिमझिम बरसात न हो !!

प्यार में लैला मजनू दीवाने हुए ,
डर लगता है फिरसे शुरुआत न हो !!

161 Views
You may also like:
माँ
Prakash juyal 'मुकेश'
मै और तुम ( हास्य व्यंग )
Ram Krishan Rastogi
मातृभाषा हिंदी
AMRESH KUMAR VERMA
कर्मगति
Shyam Sundar Subramanian
अपका दिन भी आयेगा...
Rakesh Bahanwal
घरवाली की मार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
# किताब ....
Chinta netam " मन "
I know you are not real, just my hallucination.
Manisha Manjari
" क्या विरोधी ख़ेमे को धराशायी कर पायेगा ब्रह्मास्त्र ?...
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
वो मां थी जो आशीष देती रही।
सत्य कुमार प्रेमी
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
समय
Saraswati Bajpai
याद रखेंगे हम
Shekhar Chandra Mitra
आंखों की लाली
शिव प्रताप लोधी
✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
'अशांत' शेखर
दूर तक साथ थी
Dr fauzia Naseem shad
जीवन और दर्द
Anamika Singh
दर्द की कलम।
Taj Mohammad
खूबसूरत तस्वीर
DESH RAJ
नीम का छाँव लेकर
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हे ईश्वर
Ashwani Kumar Jaiswal
पैसों के रिश्ते
Vikas Sharma'Shivaaya'
मोहब्बत का इंतज़ार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
" जय हो "
DrLakshman Jha Parimal
किसी कि चाहत
Surya Barman
Writing Challenge- आईना (Mirror)
Sahityapedia
पिता की अस्थिया
Umender kumar
💐💐प्रेम की राह पर-50💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सनातन संस्कृति
मनोज कर्ण
*तिरंगा प्यारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...