Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Apr 2024 · 1 min read

इस जीवन के मधुर क्षणों का

इस जीवन के मधुर क्षणों का
याद आना भी दुख देता है,,,
कभी-कभी तो ढलता सूरज
मन उदास कर देता है
कभी-कभी दिनकर का नभ पर
उग आना भी दुख देता है

31 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Shweta Soni
View all
You may also like:
मेरी फितरत
मेरी फितरत
Ram Krishan Rastogi
सुबह सुहानी आ रही, खूब खिलेंगे फूल।
सुबह सुहानी आ रही, खूब खिलेंगे फूल।
surenderpal vaidya
*पति-पत्नी दो श्वास हैं, किंतु एक आभास (कुंडलिया)*
*पति-पत्नी दो श्वास हैं, किंतु एक आभास (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
‌everytime I see you I get the adrenaline rush of romance an
‌everytime I see you I get the adrenaline rush of romance an
Sukoon
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
Dr. Upasana Pandey
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
दुनिया के हर क्षेत्र में व्यक्ति जब समभाव एवं सहनशीलता से सा
Raju Gajbhiye
"ज्वाला
भरत कुमार सोलंकी
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
दवाइयां जब महंगी हो जाती हैं, ग़रीब तब ताबीज पर यकीन करने लग
Jogendar singh
कलम के सिपाही
कलम के सिपाही
Pt. Brajesh Kumar Nayak
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
किताबों में तुम्हारे नाम का मैं ढूँढता हूँ माने
आनंद प्रवीण
जनता का पैसा खा रहा मंहगाई
जनता का पैसा खा रहा मंहगाई
नेताम आर सी
24/243. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/243. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सीता ढूँढे राम को,
सीता ढूँढे राम को,
sushil sarna
प्रेम निवेश है ❤️
प्रेम निवेश है ❤️
Rohit yadav
अपने मन के भाव में।
अपने मन के भाव में।
Vedha Singh
दोस्ती
दोस्ती
Surya Barman
तेवर
तेवर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ्य
शारीरिक, मानसिक और आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ्य
Dr.Rashmi Mishra
एक हमारे मन के भीतर
एक हमारे मन के भीतर
Suryakant Dwivedi
*** सफलता की चाह में......! ***
*** सफलता की चाह में......! ***
VEDANTA PATEL
यह जो पापा की परियां होती हैं, ना..'
यह जो पापा की परियां होती हैं, ना..'
SPK Sachin Lodhi
#तेवरी
#तेवरी
*Author प्रणय प्रभात*
मेरी अर्थी🌹
मेरी अर्थी🌹
Aisha Mohan
"न टूटो न रुठो"
Yogendra Chaturwedi
दिन  तो  कभी  एक  से  नहीं  होते
दिन तो कभी एक से नहीं होते
shabina. Naaz
वरदान
वरदान
पंकज कुमार कर्ण
उस चाँद की तलाश में
उस चाँद की तलाश में
Diwakar Mahto
अब तो आ जाओ कान्हा
अब तो आ जाओ कान्हा
Paras Nath Jha
"मेरा गलत फैसला"
Dr Meenu Poonia
विषय – मौन
विषय – मौन
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...