Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2023 · 1 min read

इश्क़ इबादत

डॉ अरुण कुमार शास्त्री एक अबोध बालक अरुण अतृप्त

💐 इश्क़ इबादत 💐

एक अबोध बालक

इश्क है अगर मुझसे
तो उसका जिक्र
भी जरूरी है !
कि जैसे अल्लाह
की इबादत को
घुटनों पे आना
जरूरी है !
मैं नहीं चाह्ता के
तू बर्बाद हो जाये
मगर जब प्यास लगती है
तो महज इक बूंद पूरी है !
निकल घर से और
कर ये ऐलान दुनियाँ में
के सभी को
चाहना दिल से
हाय तेरी मजबूरी है ।
इश्क है अगर मुझसे
तो उसका जिक्र
भी जरूरी है ।
मुंतजिर हूँ मुंतज़िर था
और मुंतज़िर ही रहूँगा
तेरी इस वेवफ़ाई को
सामने दुनिया के लाना
भी अब यकीनन ज़रूरी है ।
तेरा वादा और बदलती रूत
कभी सर्दी कभी गर्मी
कभी बरसात का मौसम
भरोसा आये भी तो
तेरे इख़लाक़ का बता कैसे ।
कि अब इस उम्र का
ढल जाना भी
बेहद जाना ज़रूरी है ।
मैं टूटा तो नहीं लेकिन
मिरी सांसे अब संभाले कौन
जो मेरे खास थे
उनका हलफ़नामा अब
दुनियां को बतायेगा कौन
बड़ी मुश्किल से ख़त
लिखे मैंने तुझको बुलाने को
मग़र इस उम्र ढ़लती में
ये मिरे माशूक़ तक
पहुचायेगा कौन
इसीलिए फिर कहता है
ये अबोध बालक कि
इश्क है अगर मुझसे
तो उसका जिक्र
भी जरूरी है !
कि जैसे अल्लाह
की इबादत को
घुटनों पे आना
यकीनन जरूरी है !

1 Comment · 94 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अनवरत....
अनवरत....
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
💐 Prodigy Love-10💐
💐 Prodigy Love-10💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अपनी कमी छुपाए कै,रहे पराया देख
अपनी कमी छुपाए कै,रहे पराया देख
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हे मृत्यु तैयार यदि तू आने को प्रसन्न मुख आ द्वार खुला है,
हे मृत्यु तैयार यदि तू आने को प्रसन्न मुख आ द्वार खुला है,
Vishal babu (vishu)
One day you will leave me alone.
One day you will leave me alone.
Sakshi Tripathi
बालगीत :- चाँद के चर्चे
बालगीत :- चाँद के चर्चे
Kanchan Khanna
लानत है
लानत है
Shekhar Chandra Mitra
प्रेम तो हर कोई चाहता है;
प्रेम तो हर कोई चाहता है;
Dr Manju Saini
कविता - नदी का वजूद
कविता - नदी का वजूद
Akib Javed
सीमा पर जाकर हम हत्यारों को भी भूल गए
सीमा पर जाकर हम हत्यारों को भी भूल गए
कवि दीपक बवेजा
मेरे गीत जामाना गायेगा
मेरे गीत जामाना गायेगा
Satish Srijan
तेरी सारी चालाकी को अब मैंने पहचान लिया ।
तेरी सारी चालाकी को अब मैंने पहचान लिया ।
Rajesh vyas
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
खुद को मूर्ख बनाते हैं हम
खुद को मूर्ख बनाते हैं हम
Surinder blackpen
उसकी एक नजर
उसकी एक नजर
Sahil
मनुज से कुत्ते कुछ अच्छे।
मनुज से कुत्ते कुछ अच्छे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*अगर दूसरे आपके जीवन की सुंदरता को मापते हैं तो उसके मापदंड
*अगर दूसरे आपके जीवन की सुंदरता को मापते हैं तो उसके मापदंड
Seema Verma
दुश्मनी इस तरह निभायेगा ।
दुश्मनी इस तरह निभायेगा ।
Dr fauzia Naseem shad
#कटाक्ष
#कटाक्ष
*Author प्रणय प्रभात*
“ जियो और जीने दो ”
“ जियो और जीने दो ”
DrLakshman Jha Parimal
जब भी बुलाओ बेझिझक है चली आती।
जब भी बुलाओ बेझिझक है चली आती।
Ahtesham Ahmad
लो सत्ता बिक गई
लो सत्ता बिक गई
साहित्य गौरव
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
dks.lhp
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
Anis Shah
एकीकरण की राह चुनो
एकीकरण की राह चुनो
Jatashankar Prajapati
"खुशी मत मना"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन पथ
जीवन पथ
Kamal Deependra Singh
*जहाँ पर घर नहीं बसते, वहीं पर वृद्ध-आश्रम हैं(मुक्तक)*
*जहाँ पर घर नहीं बसते, वहीं पर वृद्ध-आश्रम हैं(मुक्तक)*
Ravi Prakash
प्यार की बात है कैसे कहूं तुम्हें
प्यार की बात है कैसे कहूं तुम्हें
Er Sanjay Shrivastava
आत्मसंवाद
आत्मसंवाद
Shyam Sundar Subramanian
Loading...