Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

इम्तहान ना ले मेरी मोहब्बत का,

इम्तहान ना ले मेरी मोहब्बत का,
धड़कन कि आवाज सुन,
तड़पा ना मुझे तु,
बांध तोड़ ना सब्र का,
बस जहां भी है तू आजा लौट,
चाहे दीवार कितने भी ऊंचे हो,
तु लांघ आजा,
पर तोड़ ना यह दिल मेरा।

1 Like · 247 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
इधर उधर न देख तू
इधर उधर न देख तू
Shivkumar Bilagrami
Milo kbhi fursat se,
Milo kbhi fursat se,
Sakshi Tripathi
💐प्रेम कौतुक-251💐
💐प्रेम कौतुक-251💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कैसे बचेगी मानवता
कैसे बचेगी मानवता
Dr. Man Mohan Krishna
تونے جنت کے حسیں خواب دکھائے جب سے
تونے جنت کے حسیں خواب دکھائے جب سے
Sarfaraz Ahmed Aasee
लहरे बहुत है दिल मे दबा कर रखा है , काश ! जाना होता है, समुन
लहरे बहुत है दिल मे दबा कर रखा है , काश ! जाना होता है, समुन
Rohit yadav
हैं राम आये अवध  में  पावन  हुआ  यह  देश  है
हैं राम आये अवध में पावन हुआ यह देश है
Anil Mishra Prahari
रूप का उसके कोई न सानी, प्यारा-सा अलवेला चाँद।
रूप का उसके कोई न सानी, प्यारा-सा अलवेला चाँद।
डॉ.सीमा अग्रवाल
घर की रानी
घर की रानी
Kanchan Khanna
सावन मंजूषा
सावन मंजूषा
Arti Bhadauria
हादसें ज़िंदगी का हिस्सा हैं
हादसें ज़िंदगी का हिस्सा हैं
Dr fauzia Naseem shad
रुसवा हुए हम सदा उसकी गलियों में,
रुसवा हुए हम सदा उसकी गलियों में,
Vaishaligoel
जब तक मन इजाजत देता नहीं
जब तक मन इजाजत देता नहीं
ruby kumari
झूठी साबित हुई कहावत।
झूठी साबित हुई कहावत।
*Author प्रणय प्रभात*
शिक्षा मे भले ही पीछे हो भारत
शिक्षा मे भले ही पीछे हो भारत
शेखर सिंह
पेड़ और चिरैया
पेड़ और चिरैया
Saraswati Bajpai
घुटने बदले दादी जी के( बाल कविता)
घुटने बदले दादी जी के( बाल कविता)
Ravi Prakash
जीवन की सच्चाई
जीवन की सच्चाई
Sidhartha Mishra
हिन्दी दोहा बिषय- तारे
हिन्दी दोहा बिषय- तारे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मन काशी मन द्वारिका,मन मथुरा मन कुंभ।
मन काशी मन द्वारिका,मन मथुरा मन कुंभ।
विमला महरिया मौज
धीरज और संयम
धीरज और संयम
ओंकार मिश्र
रिश्ता ये प्यार का
रिश्ता ये प्यार का
Mamta Rani
पानी में हीं चाँद बुला
पानी में हीं चाँद बुला
Shweta Soni
जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।
जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
ऐसी विकट परिस्थिति,
ऐसी विकट परिस्थिति,
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो ।
दिल की धड़कन भी तुम सदा भी हो । हो मेरे साथ तुम जुदा भी हो ।
Neelam Sharma
युगों की नींद से झकझोर कर जगा दो मुझे
युगों की नींद से झकझोर कर जगा दो मुझे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
संकल्प
संकल्प
Shyam Sundar Subramanian
नशीली आंखें
नशीली आंखें
Shekhar Chandra Mitra
शर्म शर्म आती है मुझे ,
शर्म शर्म आती है मुझे ,
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
Loading...