Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Nov 2023 · 1 min read

इक क़तरा की आस है

इक क़तरा की आस है
जो दरिया से कम नहीं,
प्रेम के उस पल की प्यास है,
जो समंदर से कम नहीं।

2 Likes · 104 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
न गिराओ हवाओं मुझे , औकाद में रहो
न गिराओ हवाओं मुझे , औकाद में रहो
कवि दीपक बवेजा
*बारिश का मौसम है प्यारा (बाल कविता)*
*बारिश का मौसम है प्यारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
** बहाना ढूंढता है **
** बहाना ढूंढता है **
surenderpal vaidya
सवाल
सवाल
Manisha Manjari
3117.*पूर्णिका*
3117.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
राम नाम
राम नाम
पंकज प्रियम
Gone
Gone
*Author प्रणय प्रभात*
जब सावन का मौसम आता
जब सावन का मौसम आता
लक्ष्मी सिंह
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Tum likhte raho mai padhti rahu
Tum likhte raho mai padhti rahu
Sakshi Tripathi
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
अरे ये कौन नेता हैं, न आना बात में इनकी।
अरे ये कौन नेता हैं, न आना बात में इनकी।
डॉ.सीमा अग्रवाल
हंसते ज़ख्म
हंसते ज़ख्म
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
पाँव में खनकी चाँदी हो जैसे - संदीप ठाकुर
पाँव में खनकी चाँदी हो जैसे - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
कुर्सीनामा
कुर्सीनामा
Shekhar Chandra Mitra
सफल सिद्धान्त
सफल सिद्धान्त
Dr. Kishan tandon kranti
💐प्रेम कौतुक-364💐
💐प्रेम कौतुक-364💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वर्तमान समय में रिश्तों की स्थिति पर एक टिप्पणी है। कवि कहता
वर्तमान समय में रिश्तों की स्थिति पर एक टिप्पणी है। कवि कहता
पूर्वार्थ
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
बिस्तर से आशिकी
बिस्तर से आशिकी
Buddha Prakash
यहाँ पर सब की
यहाँ पर सब की
Dr fauzia Naseem shad
आखिर शिथिलता के दौर
आखिर शिथिलता के दौर
DrLakshman Jha Parimal
चाँद पर रखकर कदम ये यान भी इतराया है
चाँद पर रखकर कदम ये यान भी इतराया है
Dr Archana Gupta
मेरा गुरूर है पिता
मेरा गुरूर है पिता
VINOD CHAUHAN
रेतीले तपते गर्म रास्ते
रेतीले तपते गर्म रास्ते
Atul "Krishn"
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
Subhash Singhai
मंजिल तक का संघर्ष
मंजिल तक का संघर्ष
Praveen Sain
🎊🎉चलो आज पतंग उड़ाने
🎊🎉चलो आज पतंग उड़ाने
Shashi kala vyas
ସେହି କୁକୁର
ସେହି କୁକୁର
Otteri Selvakumar
**मन में चली  हैँ शीत हवाएँ**
**मन में चली हैँ शीत हवाएँ**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...