Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Nov 2023 · 1 min read

इंसान अच्छा है या बुरा यह समाज के चार लोग नहीं बल्कि उसका सम

इंसान अच्छा है या बुरा यह समाज के चार लोग नहीं बल्कि उसका समय तय करता है

गौरी तिवारी

4 Likes · 124 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम्हारी हँसी......!
तुम्हारी हँसी......!
Awadhesh Kumar Singh
Style of love
Style of love
Otteri Selvakumar
दुनिया में कुछ भी बदलने के लिए हमें Magic की जरूरत नहीं है,
दुनिया में कुछ भी बदलने के लिए हमें Magic की जरूरत नहीं है,
Sunil Maheshwari
*
*"घंटी"*
Shashi kala vyas
तारीफ आपका दिन बना सकती है
तारीफ आपका दिन बना सकती है
शेखर सिंह
सफ़र जिंदगी के.....!
सफ़र जिंदगी के.....!
VEDANTA PATEL
हाय रे गर्मी
हाय रे गर्मी
अनिल "आदर्श"
हिंदी साहित्य की नई विधा : सजल
हिंदी साहित्य की नई विधा : सजल
Sushila joshi
माँ सरस्वती-वंदना
माँ सरस्वती-वंदना
Kanchan Khanna
मैं क्या लिखूँ
मैं क्या लिखूँ
Aman Sinha
तुम सबने बड़े-बड़े सपने देखे थे, धूमिल हो गए न ... कभी कभी म
तुम सबने बड़े-बड़े सपने देखे थे, धूमिल हो गए न ... कभी कभी म
पूर्वार्थ
International Chess Day
International Chess Day
Tushar Jagawat
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चंचल - मन पाता कहाँ , परमब्रह्म का बोध (कुंडलिया)
चंचल - मन पाता कहाँ , परमब्रह्म का बोध (कुंडलिया)
Ravi Prakash
3342.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3342.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
रखें बड़े घर में सदा, मधुर सरल व्यवहार।
रखें बड़े घर में सदा, मधुर सरल व्यवहार।
आर.एस. 'प्रीतम'
हाथों की लकीरों तक
हाथों की लकीरों तक
Dr fauzia Naseem shad
कहाँ है मुझको किसी से प्यार
कहाँ है मुझको किसी से प्यार
gurudeenverma198
■ केवल लूट की मंशा।
■ केवल लूट की मंशा।
*प्रणय प्रभात*
अब कलम से न लिखा जाएगा इस दौर का हाल
अब कलम से न लिखा जाएगा इस दौर का हाल
Atul Mishra
पल भर कि मुलाकात
पल भर कि मुलाकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
शिष्टाचार
शिष्टाचार
लक्ष्मी सिंह
ये फुर्कत का आलम भी देखिए,
ये फुर्कत का आलम भी देखिए,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
** मुक्तक **
** मुक्तक **
surenderpal vaidya
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
भजलो राम राम राम सिया राम राम राम प्यारे राम
Satyaveer vaishnav
"बिरसा मुण्डा"
Dr. Kishan tandon kranti
हिंदी दोहा-कालनेमि
हिंदी दोहा-कालनेमि
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
नजर से मिली नजर....
नजर से मिली नजर....
Harminder Kaur
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
कुदरत से मिलन , अद्धभुत मिलन।
Kuldeep mishra (KD)
*मुश्किल है इश्क़ का सफर*
*मुश्किल है इश्क़ का सफर*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...