Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

आ वापस इस शहर को

ढूंढ़ता रहता हूँ तुझे ख्यालो में
तेरे इक झलक पाने को
यार जाने के बाद तेरे
दोस्त बनाया हूँ मयखाने को

सपने तेरे सजाने के लिए
ठुकराया था रस्मो-रिवाजो को
दिल जा तेरे नाम किया था
मुझे छोड़ी थी तूने गैर पाने को

अपने हर खुशियाँ कुर्बा किया था
तुझे मुस्कुराते हुए देखने को
पर न समझी थी तू उस वक्त
इस पागल तेरे आशिक को

तूने बसा ली है नई जहां
कुचल के मेरे अरमानो को
सदा के लिए न बन बेखबर
आ वापस इस शहर को

सहा न जाता है आलम दिल की
दोस्त बनाया हूँ मयखाने को
जी रहा हूँ मर-मर के यहाँ
बस इक झलक तेरे पाने को

जानता हूँ गलत कर रहा हूँ
तू पास आ जा समझने को
चाहे ज़माना कुछ भी समझे
तू पास आजा मिलने को

207 Views
You may also like:
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जमीं से आसमान तक।
Taj Mohammad
मौत बाटे अटल
आकाश महेशपुरी
शेर
dks.lhp
बस करो अब मत तड़फाओ ना
Krishan Singh
THANKS
Vikas Sharma'Shivaaya'
थियोसॉफी की कुंजिका (द की टू थियोस्फी)* *लेखिका : एच.पी....
Ravi Prakash
क्या देखें हम...
सूर्यकांत द्विवेदी
भारत लोकतंत्र एक पर्याय
Rj Anand Prajapati
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
अज़ल की हर एक सांस जैसे गंगा का पानी है./लवकुश...
लवकुश यादव "अज़ल"
संघर्ष
Anamika Singh
दिये मुहब्बत के...
अरशद रसूल /Arshad Rasool
लहरों का आलाप ( दोहा संग्रह)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
जिन्दगी रो पड़ी है।
Taj Mohammad
धन्य है पिता
Anil Kumar
He is " Lord " of every things
Ram Ishwar Bharati
तेरे रोने की आहट उसको भी सोने नहीं देती होगी
Krishan Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं [भाग८]
Anamika Singh
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
💐तर्जुमा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जीने की चाहत है सीने में
Krishan Singh
जिंदगी को खामोशी से गुज़ारा है।
Taj Mohammad
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
Baby cries.
Taj Mohammad
सत्य भाष
AJAY AMITABH SUMAN
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...