Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

आया तीजो का त्यौहार

आओ सखि सब झूला झले,
पींग बढ़ाकर नभ को छूले।
आया है तीजो का त्योहार,
मन में है मेरे खुशी अपार।।

साजन भी मेरे आ जाएंगे,
सुहाग का सामान वे लाएंगे।
करूंगी मै सोलह सिंगार,
महकेगा मेरा सारा संसार।
भूल जाएंगे अब मन के सूले,
आओ सखी सब झूला झूले।।

रिमझम रिमझिम पानी बरसे,
जिया मेरा पिया को तरसे।
हो जाएगा जब मिलन मेरा,
प्रसन्न चित्त होगा तब मेरा।।
आओ सब पिछली बाते भूले
आओ सखी सब झूला झूले।।

पड़ गए झूले आम की डार पर,
कोयले कूके अपनी तान पर।
भोरे झपटे हर कलि कलि पर
तितलियां बैठी है हर फूल पर
ऐसी तीजो को कभी ना भूले।
आओ सखी सब झूला झूले।।

आया है सुसराल से सिंदारा,
भरा इसमें सुहाग का भंडारा।
इसमें भरा मां बाप का प्यार,
और भाई भाभी का दुलार।
ऐसे पीहर को मै कैसे भुलू,
आओ सखी सब झूला झूले।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 205 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
चन्द ख्वाब
चन्द ख्वाब
Kshma Urmila
बरसाने की हर कलियों के खुशबू में राधा नाम है।
बरसाने की हर कलियों के खुशबू में राधा नाम है।
Rj Anand Prajapati
परिवार
परिवार
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
अच्छाई बनाम बुराई :- [ अच्छाई का फल ]
अच्छाई बनाम बुराई :- [ अच्छाई का फल ]
Surya Barman
"गलतफहमी"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
प्रेम में पड़े हुए प्रेमी जोड़े
श्याम सिंह बिष्ट
बोध
बोध
Dr.Pratibha Prakash
कुछ अजीब सा चल रहा है ये वक़्त का सफ़र,
कुछ अजीब सा चल रहा है ये वक़्त का सफ़र,
Shivam Sharma
हर परिवार है तंग
हर परिवार है तंग
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
आप किसी के बनाए
आप किसी के बनाए
*Author प्रणय प्रभात*
प्यार और नफ़रत
प्यार और नफ़रत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
शायद यह सोचने लायक है...
शायद यह सोचने लायक है...
पूर्वार्थ
रेत पर
रेत पर
Shweta Soni
“बदलते भारत की तस्वीर”
“बदलते भारत की तस्वीर”
पंकज कुमार कर्ण
मैं चल रहा था तन्हा अकेला
मैं चल रहा था तन्हा अकेला
..
पानीपुरी (व्यंग्य)
पानीपुरी (व्यंग्य)
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
सब कुर्सी का खेल है
सब कुर्सी का खेल है
नेताम आर सी
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
मेरा एक मित्र मेरा 1980 रुपया दो साल से दे नहीं रहा था, आज स
Anand Kumar
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
Harminder Kaur
स्वतंत्रता सेनानी नीरा आर्य
स्वतंत्रता सेनानी नीरा आर्य
Anil chobisa
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
Taj Mohammad
अनजान लड़का
अनजान लड़का
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
जिसकी बहन प्रियंका है, उसका बजता डंका है।
जिसकी बहन प्रियंका है, उसका बजता डंका है।
Sanjay ' शून्य'
चवन्नी , अठन्नी के पीछे भागते भागते
चवन्नी , अठन्नी के पीछे भागते भागते
Manju sagar
सोने के पिंजरे से कहीं लाख़ बेहतर,
सोने के पिंजरे से कहीं लाख़ बेहतर,
Monika Verma
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
*बारिश सी बूंदों सी है प्रेम कहानी*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
चुभे  खार  सोना  गँवारा किया
चुभे खार सोना गँवारा किया
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बात जो दिल में है
बात जो दिल में है
Shivkumar Bilagrami
💐अज्ञात के प्रति-78💐
💐अज्ञात के प्रति-78💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...