Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jan 2024 · 1 min read

आप को मरने से सिर्फ आप बचा सकते हैं

आप को मरने से सिर्फ आप बचा सकते हैं
बाकी लोग तमाशाबीन है यहाँ …

#विरह

61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
विद्यापति धाम
विद्यापति धाम
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
*अपना भारत*
*अपना भारत*
मनोज कर्ण
Love is like the wind
Love is like the wind
Vandana maurya
*अध्याय 10*
*अध्याय 10*
Ravi Prakash
बेगुनाही की सज़ा
बेगुनाही की सज़ा
Shekhar Chandra Mitra
24-खुद के लहू से सींच के पैदा करूँ अनाज
24-खुद के लहू से सींच के पैदा करूँ अनाज
Ajay Kumar Vimal
जुगनू
जुगनू
Gurdeep Saggu
बरसात
बरसात
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
गुजरे वक्त के सबक से
गुजरे वक्त के सबक से
Dimpal Khari
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
कवि दीपक बवेजा
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
💐प्रेम कौतुक-368💐
💐प्रेम कौतुक-368💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
3156.*पूर्णिका*
3156.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दिल कि आवाज
दिल कि आवाज
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अप कितने भी बड़े अमीर सक्सेस हो जाओ आपके पास पैसा सक्सेस सब
अप कितने भी बड़े अमीर सक्सेस हो जाओ आपके पास पैसा सक्सेस सब
पूर्वार्थ
कुछ पैसे बचा कर रखे हैं मैंने,
कुछ पैसे बचा कर रखे हैं मैंने,
Vishal babu (vishu)
ये सिलसिले ऐसे
ये सिलसिले ऐसे
Dr. Kishan tandon kranti
अक्सर यूं कहते हैं लोग
अक्सर यूं कहते हैं लोग
Harminder Kaur
Who's Abhishek yadav bojha
Who's Abhishek yadav bojha
Abhishek Yadav
बुरा ख्वाबों में भी जिसके लिए सोचा नहीं हमने
बुरा ख्वाबों में भी जिसके लिए सोचा नहीं हमने
Shweta Soni
एक कहानी है, जो अधूरी है
एक कहानी है, जो अधूरी है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
नर नारी
नर नारी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
मेरा यार आसमां के चांद की तरह है,
Dushyant Kumar Patel
#शेर
#शेर
*Author प्रणय प्रभात*
कोई ज्यादा पीड़ित है तो कोई थोड़ा
कोई ज्यादा पीड़ित है तो कोई थोड़ा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जिंदगी में ऐसा इंसान का होना बहुत ज़रूरी है,
जिंदगी में ऐसा इंसान का होना बहुत ज़रूरी है,
Mukesh Jeevanand
धिक्कार है धिक्कार है ...
धिक्कार है धिक्कार है ...
आर एस आघात
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
बदनाम शराब
बदनाम शराब
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
एक सबक इश्क का होना
एक सबक इश्क का होना
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...