Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Sep 2022 · 1 min read

आधा इंसान

वो पूर्ण नही हो सकता जब तक
करुणा, वेदना, प्रेम और अपनत्व
नही है जिनके अंदर ।

मैं कैसे कह दूं इंसान उनको
इंसानियत कही भी नजर न आये
जिनके अंदर ।।

आये दिन नित खबर है आती
लूट, मार, खून खराबा, छीना- छपटी ।
अपनापन कही भी नजर ना आये
हर एक इंसान बन बैठा है आज कुटिल और कपटी ।।

©गोविन्द उईके

Language: Hindi
4 Likes · 2 Comments · 175 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
धुँधलाती इक साँझ को, उड़ा परिन्दा ,हाय !
Pakhi Jain
कुशादा
कुशादा
Mamta Rani
जैसी लफ़्ज़ों में
जैसी लफ़्ज़ों में
Dr fauzia Naseem shad
दोहा त्रयी. . . .
दोहा त्रयी. . . .
sushil sarna
प्यार की कस्ती पे
प्यार की कस्ती पे
Surya Barman
मुक्ति का दे दो दान
मुक्ति का दे दो दान
Samar babu
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*राखी के धागे धवल, पावन परम पुनीत  (कुंडलिया)*
*राखी के धागे धवल, पावन परम पुनीत (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नया पाकिस्तान
नया पाकिस्तान
Shekhar Chandra Mitra
मुझे तेरी जरूरत है
मुझे तेरी जरूरत है
Basant Bhagawan Roy
2628.पूर्णिका
2628.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मां कालरात्रि
मां कालरात्रि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
राखी की यह डोर।
राखी की यह डोर।
Anil Mishra Prahari
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
रखा जाता तो खुद ही रख लेते...
कवि दीपक बवेजा
आशा निराशा
आशा निराशा
Suryakant Dwivedi
लहू जिगर से बहा फिर
लहू जिगर से बहा फिर
Shivkumar Bilagrami
मुझे ना छेड़ अभी गर्दिशे -ज़माने तू
मुझे ना छेड़ अभी गर्दिशे -ज़माने तू
shabina. Naaz
दिल में आने लगे हैं
दिल में आने लगे हैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
काश
काश
लक्ष्मी सिंह
आईने से बस ये ही बात करता हूँ,
आईने से बस ये ही बात करता हूँ,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
💐ध्रुवमहाभागस्य प्रेम💐
💐ध्रुवमहाभागस्य प्रेम💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जरूरी है
जरूरी है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Dont judge by
Dont judge by
Vandana maurya
जब कैमरे काले हुआ करते थे तो लोगो के हृदय पवित्र हुआ करते थे
जब कैमरे काले हुआ करते थे तो लोगो के हृदय पवित्र हुआ करते थे
Rj Anand Prajapati
वो तीर ए नजर दिल को लगी
वो तीर ए नजर दिल को लगी
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
■ मील का पत्थर
■ मील का पत्थर
*Author प्रणय प्रभात*
"निर्णय आपका"
Dr. Kishan tandon kranti
जिन्दगी मे एक बेहतरीन व्यक्ति होने के लिए आप मे धैर्य की आवश
जिन्दगी मे एक बेहतरीन व्यक्ति होने के लिए आप मे धैर्य की आवश
पूर्वार्थ
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
Harminder Kaur
Loading...