Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Sep 2022 · 1 min read

आत्म निर्णय

मैं ख़ुद को
बनाना चाहती हूं!
मैं ख़ुद को
बसाना चाहती हूं!!
ज़ेवर नहीं,
इल्म और हुनर से!
मैं ख़ुद को
सजाना चाहती हूं!!
#genderjehad #IranProtests
#Hijab #Equality #girls #uno
#women #पिंजरा_तोड़ #पितृसत्ता
#सामंतवादी #मनुवादी #patriarchy

Language: Hindi
1 Like · 177 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ऐसे ही थोड़ी किसी का नाम हुआ होगा।
ऐसे ही थोड़ी किसी का नाम हुआ होगा।
Praveen Bhardwaj
*आस टूट गयी और दिल बिखर गया*
*आस टूट गयी और दिल बिखर गया*
sudhir kumar
जब आप ही सुनते नहीं तो कौन सुनेगा आपको
जब आप ही सुनते नहीं तो कौन सुनेगा आपको
DrLakshman Jha Parimal
दिल का हाल
दिल का हाल
पूर्वार्थ
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मुझे अधूरा ही रहने दो....
मुझे अधूरा ही रहने दो....
Santosh Soni
खूब ठहाके लगा के बन्दे !
खूब ठहाके लगा के बन्दे !
Akash Yadav
संस्कार मनुष्य का प्रथम और अपरिहार्य सृजन है। यदि आप इसका सृ
संस्कार मनुष्य का प्रथम और अपरिहार्य सृजन है। यदि आप इसका सृ
Sanjay ' शून्य'
कुत्ते का श्राद्ध
कुत्ते का श्राद्ध
Satish Srijan
*कलम जादू भरी जग में, चमत्कारी कहाती है (मुक्तक)*
*कलम जादू भरी जग में, चमत्कारी कहाती है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
*रे इन्सा क्यों करता तकरार* मानव मानव भाई भाई,
*रे इन्सा क्यों करता तकरार* मानव मानव भाई भाई,
Dushyant Kumar
"इशारे" कविता
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
कितना रोके मगर मुश्किल से निकल जाती है
कितना रोके मगर मुश्किल से निकल जाती है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तहरीर
तहरीर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
3330.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3330.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
तुम सत्य हो
तुम सत्य हो
Dr.Pratibha Prakash
मोमबत्ती जब है जलती
मोमबत्ती जब है जलती
Buddha Prakash
😜 बचपन की याद 😜
😜 बचपन की याद 😜
*Author प्रणय प्रभात*
-0 सुविचार 0-
-0 सुविचार 0-
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जीवन
जीवन
नन्दलाल सुथार "राही"
रज के हमको रुलाया
रज के हमको रुलाया
Neelam Sharma
होता अगर मैं एक शातिर
होता अगर मैं एक शातिर
gurudeenverma198
गोरी का झुमका
गोरी का झुमका
Surinder blackpen
जब बूढ़ी हो जाये काया
जब बूढ़ी हो जाये काया
Mamta Rani
"तवा"
Dr. Kishan tandon kranti
मैंने चांद से पूछा चहरे पर ये धब्बे क्यों।
मैंने चांद से पूछा चहरे पर ये धब्बे क्यों।
सत्य कुमार प्रेमी
(10) मैं महासागर हूँ !
(10) मैं महासागर हूँ !
Kishore Nigam
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नश्वर है मनुज फिर
नश्वर है मनुज फिर
Abhishek Kumar
मार्तंड वर्मा का इतिहास
मार्तंड वर्मा का इतिहास
Ajay Shekhavat
Loading...